माली का बेटा रोनोल्डो दुनिया का सबसे मालामाल फुटबॉलर

FILE

रियाल मैड्रिड की तरफ से तहलका मचाने वाले रोनाल्डो पर अभी उम्र का असर नहीं हुआ है लेकिन यह भी माना जा रहा है कि यह विश्व कप उनका आखिरी विश्व कप भी साबित हो सकता है।

बहरहाल, ये तथ्य भी सबके सामने हैं कि माली का यह बेटा आज दुनिया का सबसे धनवान फुटबॉलर है। आज भले ही रोनाल्डो के पिता इस ‍दुनिया में नहीं हैं लेकिन गरीब घर में जन्म लेकर 'ठोकर की दुनिया का बादशाह' बनने की उनकी कहानी बेहद दिलचस्प तो है ही साथ ही उन लोगों के लिए मिसाल है, जो गरीबी का रोना रोते रहते हैं और जिंदगी से लड़ने की हिम्मत खो देते हैं।

5 फरवरी 1985 का वह दिन था और वक्त था सुबह के 10 बजकर 20 मिनट... तभी डॉक्टर ने जोस डिनिस एवियरो को बताया कि उनकी पत्नी मारिया डोलेरोस ने एक बेटे को जन्म दिया है, तब मारिया की बहन भी अस्पताल में मौजूद थीं।

जब उन्हें प्रसूति के बाद जनरल वार्ड में शिफ्ट किया गया तो पिता, जो पेशे से माली का काम करते थे, जश्न मनाने के लिए शराब पीने चले गए... मारिया ने अपनी बहन से कहा कि मेरे बेटे का नाम क्या रखेंगे?

तब अमेरिका के राष्ट्रपति रोनाल्ड ‍रीगन हुआ करते थे। मारिया ने बहन को सुझाया कि क्यों न हम इसका नाम राष्ट्रपति के नाम पर रख दें। आखिरकार तय हुआ कि इसका नाम रोनाल्डो रखा जाए, जो ‍रोनाल्ड रीगन से मिलता-जुलता रहेगा।

तब भला किसे पता था कि रोनाल्डो ने इस हसीन दुनिया में सिर्फ और सिर्फ फुटबॉलर बनने के लिए अपनी आंखें खोली हैं और जब यह जवान होगा, तब लोग ‍क्रिस्टियानो से नाम से पहचानेंगे।

रोनाल्डो के पिता सरकारी महकमे में माली के पद पर थे और उनका काम था पार्क और मैदानों की देखभाल करना लेकिन उनके वेतन का ज्यादातर हिस्सा शराब में चला जाता था। टीन का घर था और इसी घर में रोनाल्डो का बचपन बीता।

वे घर में फुटबॉल से अभ्यास करते, वह भी मां से छुपकर। रोनाल्डो की मां मारिया अपना घर चलाने के लिए दूसरे के घरों में जाकर खाना बनाने और साफ-सफाई का काम किया करती थी।

फुटबॉल की दीवानगी रोनाल्डो के दिमाग पर किस तरह छाई हुई थी इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि वह स्कूल से आने के बाद मां से झूठ बोलकर फुटबॉल खेलने चले जाया करता था। जब उसकी उम्र 11 बरस की हुई, तब उसे स्पोर्टिंग लिखन फुटबॉल क्लब के ट्रॉयल्स का प्रस्ताव मिला।
WD|
12 जून से ब्राजील में शुरू हो रहे में जिन सितारों पर दुनियाभर की नजरें टिकी होंगी उनमें के स्टार फुटबॉलर 29 साल के क्रिस्टियानो रोनाल्डो भी शामिल होंगे जिन्हें फुटबॉल की अंतरराष्ट्रीय संस्था फीफा ने 'गोल्डन बूट' देकर नवाजा गया था।

शराब के नशे में तो नहीं डूबे रोनाल्डो... अगले पन्ने पर पढ़ें..


वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
Widgets Magazine



और भी पढ़ें :