एनआईए की जांच की दिशा सही : प्रज्ञा सिंह

उज्जैन| Last Updated: गुरुवार, 19 मई 2016 (01:08 IST)
उज्जैन। मालेगांव ब्लास्ट में कोर्ट से राहत पाने वाली साध्वी प्रज्ञा सिंह ने कहा कि एनआईए की जांच अब सही दिशा में जा रही है। एनआईए ने उन्हें क्‍लीनचिट दी है, इससे वे खुश हैं उन्हें अब भरोसा होने लगा है कि जांच की दिशा सही है। 
प्रदेश सरकार पर मुझे भरोसा नहीं है, सरकार ने मेरी कोई मदद नहीं की बल्कि मुझे उज्जैन आने से भी रोका गया। कुंभ में मैं आध्यात्मिक लाभ लेने आई हूं। यहां आने का मेरा संकल्प पूरा हो गया है इसलिए मैंने आज अपना अनशन भी समाप्त कर दिया है। एनआईए की जांच अब सही दिशा में जा रही है। लेकिन न्याय मिलने में अगर देरी हुई तो यह भी अन्याय ही कहा जाएगा। 
 
साध्वी प्रज्ञा सिंह ने मीडिया से चर्चा में कहा कि वे प्रदेश सरकार से नहीं उनके कर्मों से आक्रोशित हैं। मुख्यमंत्री संतों के हितों में काम कर रहे हैं, यह उनका ड्रामा है, क्या जो जेल में बंद है, वो संत नहीं है। मुख्यमंत्री ने कोर्ट के आदेश का उल्लंघन किया है उसे लेकर वे मानवाधिकार में जाएंगी। वे कैंसर से पीड़ित हैं और उन्हें जो कष्ट हुआ है, उसका परिणाम सरकार को भुगतना पड़ेगा। 
 
सीएम से खफा प्रज्ञा सिंह इस दौरान पीएम की प्रशंसा करना नहीं भूलीं, उन्होंने कहा कि नरेन्द्र मोदी राष्ट्रवादी हैं, राष्ट्रभक्त हैं, वे राष्ट्र के लिए सोचते हैं। उन्हें मेरा समर्थन है। साध्वी प्रज्ञा सिंह ने कहा कि जो लोग हिन्दुवादियों से भयभीत हैं, वे भगवा आतंकवाद का नाम ले रहे हैं, उन्होंने दिग्विजयसिह पर कटाक्ष किया कि उन्हें अपना अस्तित्व डोलता दिख रहा है इसलिए उन्होंने भगवा आतंकवाद की परिभाषा हमसे ही शुरू की है। जनता भगवाधारियों को अपनाने लगी है वह राष्ट्रवाद को पहचान गई है। 
 
साध्वी ने कहा कि शुद्ध रक्त हिन्दू उनका समर्थन करेंगे और जिनके रक्त में मिलावट है वो मेरे विरोध में हैं। मुझे जिन लोगों ने निरपराध होते हुए भी दंड दिया है उनमें से कुछ को तो ठाकुरजी दंड दे चुके हैं, बाकी को वे नहीं छोड़ेंगीं। सुनील जोशी हत्याकांड की आरोपी साध्वी प्रज्ञा सिंह को कोर्ट के आदेश के बाद भोपाल पुलिस शाम करीब 5 बजे रुद्रसागर स्थित उनके पांडाल 'जय वंदे मातरम' आश्रम लेकर पहुंचीं थीं। 
 
दंडनीति करते हैं संन्‍यासी : पिछले 8 सालों तक सुनील जोशी हत्याकांड में जेल में बंद रहने के बाद अब बाहर आकर राजनीति करने के सवाल पर प्रज्ञा सिंह ने कहा कि संन्‍यासी वोटो की राजनीति नहीं करते हैं वो तो दंडनीति में विश्वास रखते हैं, उनका अभी कोई इरादा नहीं है। 
  
पुलिस अधिकारियो ने बात करने से रोका : जब प्रज्ञा सिंह कैंप में मीडिया से चर्चा के लिए आईं तो भोपाल से आए एएसपी राजेश भदौरिया ने उन्हें कहा कि वे कोर्ट की अनुमति से आई हैं, इसलिए मीडिया से चर्चा करना उचित नहीं है, जिस पर साध्वी ने कहा कि वे अपनी मर्यादा में रहकर मीडिया से चर्चा करेंगी। उन्होंने कहा कि अगर ये कानून का उल्लंघन है तो वे इसका दंड भुगतने को तैयार हैं। 

Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :