Widgets Magazine

पितरों की प्रसन्नता के लिए करें तर्पण, अर्पण और समर्पण


पितृदोष की वजह से नहीं मिलता है संतान सुख

जब पितृ कुपित होते हैं,
प्रसन्न नहीं रहते हैं, तब पितृदोष लगता है। समस्त सुखों से वंचित हो जाते हैं। ऐसी स्थिति में पितरों के निमित्त शांति पाठ करवाएं। पितृ गायत्री का पाठ करवाएं और धार्मिक स्थान पर गीता व रामायण जैसी पुस्तकों का दान करें, तो लाभ होगा। पितृ प्रसन्न होंगे तो आपको माता-पिता बनने का सौभाग्य प्राप्त होगा।

तर्पण :

हमारे पूर्वज, जिनकी वजह से हमारा अस्तित्व है, के निमित तर्पण करवाएं। ब्राह्मण द्वारा संकल्प करवाएं। तिल, जौ, चावल और कुशा द्वारा तर्पण करवाएं। घर के प्रत्येक सदस्य द्वारा दिवंगत आत्मा हेतु दान जरूर करवाएं। अन्न का दान करें और उनके निमित्त किसी गरीब व असहाय व्यक्ति को भोजन और वस्त्र दें।
अर्पण :

सर्वप्रथम अपने पूर्वजों की इच्छा व पसंदानुसार दान देना चाहिए। अपने पितरों की तस्वीर
पर तिलक व फूलमाला अर्पित करें और संध्या समय में तिल के तेल का दीपक जरूर प्रज्वलित करें और अपने परिवार समेत उनकी तिथि पर लोगों में भोजन बांटें।

समर्पण :

पितरों के प्रति निमित्त भाव समर्पित होना आवश्यक है। 1 चंदन की माला समर्पित करते हुए सफेद पुष्प उनकी तस्वीर पर समर्पित करें। उनकी प्रिय वस्तु को ध्यान में रखते हुए आप वह लोगों में बांटें और भागवत गीता के सप्तम्, अष्टम् और नवम् अध्याय का पाठ जरूर करना चाहिए। उनको इससे प्रसन्नता प्राप्त होती है।

ALSO READ:क्यों, कैसे तथा कब होता है

देखें वीडियो

Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :

सबसे अधिक शुभ मुहूर्त यानी अक्षय तृतीया, पढ़ें विशेष महत्व

सबसे अधिक शुभ मुहूर्त यानी अक्षय तृतीया, पढ़ें विशेष महत्व
अक्षय तृतीया के दिन पंखा, चावल, नमक, घी, चीनी, सब्जी, फल, इमली और वस्त्र वगैरह का दान ...

सभी व्रतों में सर्वोत्तम है अक्षय तृतीया, जानिए कारण

सभी व्रतों में सर्वोत्तम है अक्षय तृतीया, जानिए कारण
इस पर्व पर अगर पति-पत्नी दोनों व्रत कर के पूजन करें तो सालों साल उनका सौभाग्य बना रहता

अक्षय तृतीया पर करें मां लक्ष्मी को प्रसन्न, जपें यह ...

अक्षय तृतीया पर करें मां लक्ष्मी को प्रसन्न, जपें यह चमत्कारी मंत्र
अक्षय तृतीया के दिन शाम के समय उत्तरमुखी होकर लाल आसान पर बैठकर मां लक्ष्मीजी की उपासना ...

सूर्य का मेष राशि में परिवर्तन, जानिए 12 राशियों पर असर...

सूर्य का मेष राशि में परिवर्तन, जानिए 12 राशियों पर असर...
14 अप्रैल, शनिवार को सुबह 8 बजकर 27 मिनट पर सूर्य ने मेष राशि में प्रवेश कर लिया हैं। ...

स्वयंसिद्ध मुहूर्तों में अक्षय तृतीया को माना गया है खास, ...

स्वयंसिद्ध मुहूर्तों में अक्षय तृतीया को माना गया है खास, जानिए महत्व
‘अक्षय तृतीया’ के रूप में प्रख्यात वैशाख शुक्ल तीज को स्वयं सिद्ध मुहूर्तों में से एक ...

सबसे चमकदार ग्रह है शुक्र

सबसे चमकदार ग्रह है शुक्र
चन्द्रमा के बाद रात के आकाश में सबसे ज्यादा शुक्र ही है। शुक्र का आकार और घनत्व करीब-करीब ...

क्या आपके अपनों को भी लगती है नजर, तो ऐसे करें सरल उपाय

क्या आपके अपनों को भी लगती है नजर, तो ऐसे करें सरल उपाय
नजर लगे व्यक्ति को पान में गुलाब की सात पंखुड़ियां रखकर खिलाए। नजर लगा हुआ व्यक्ति इष्ट ...

नौकरी पाने के लिए जरूरी योग-संयोग जानिए...

नौकरी पाने के लिए जरूरी योग-संयोग जानिए...
जीवन की कोई भी शुभ या अशुभ घटना राहु और केतु की दशा या अंतरदशा में घटित हो सकती है। यह ...

मां बगलामुखी की पौराणिक कथा

मां बगलामुखी की पौराणिक कथा
मां देवी बगलामुखीजी के संदर्भ में एक पौराणिक कथा के अनुसार एक बार सतयुग में महाविनाश ...

22 अप्रैल को मनेगी गंगा सप्तमी, आजमाएं ये 8 उपाय

22 अप्रैल को मनेगी गंगा सप्तमी, आजमाएं ये 8 उपाय
वैशाख मास के शुक्ल पक्ष की सप्तमी तिथि को गंगा सप्तमी कहा जाता है। इस वर्ष ये तिथि 22 ...

राशिफल