हिन्दी फिल्मों के गीत संस्कृत में

गीता, रामायण, वेद आदि हिन्दुओं के प्राचीन धर्मग्रंथ में ही हैं। पतंजलि का योग शास्त्र भी संस्कृत में है। हालांकि समय के साथ संस्कृत प्रचलन से बाहर हो गई, लेकिन यह भी सत्य है कि भारत की सभी भाषाओं में संस्कृत के शब्दों का बहुतायत से प्रयोग होता है।

हिन्दी फिल्मों के गीत यदि संस्कृत में गुनगुनाए जाएं तो निश्चित ही सबको आश्चर्य होगा। इंदौर स्थित संस्कृत महाविद्यालय के आचार्य गोपाल बैरागी ने हिन्दी फिल्मों के गीत- तुम दिल की धड़कन में रहते हो... और परदेसी परदेसी जाना नहीं... को संस्कृत में अनुवाद कर गुनगुनाया है। बड़ी बात यह है कि न तो धुन बदली है और न ही इनकी मधुरता में को कमी आई है। आचार्य बैरागी मानते है कि संस्कृत बहुत ही सरल और सुबोध भाषा है। इसे कोई भी सीख सकता है।

आप भी सुन सकते हैं इन गीतों को...

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :