Widgets Magazine

भारत की इन 4 रहस्यमयी लिपियों का रहस्य जानकर चौंक जाएंगे...

ग्लोबलाइजेशन और तकनीक के दौर में पूरी दुनिया कुछ बेहतर पाने के लिए अपनी कुछ अहम चीजों को पीछे छोड़ती जा रही है, उनमें से एक है भाषा। विऔर सांस्कृतिक संघर्ष के कारण कुछ भाषाएं लुप्त हो रही है तो कुछ खुद को बदल रही है और कुछ खुद को विस्तार दे रही है। इसी संघर्ष क्रम में प्राचीन काल में ऐसी कई भाषाएं या उनकी लिपियां लुप्त होकर अब रहस्य का विषय बनी हुई है। हालांकि कुछ ऐसी भी लिपिया हैं जिनका अस्तिव बरकरार है।
कई गुफाओं में पाई गई चित्रलिपि या न मालूम किस भाषा में लिखे गए शिलालेख, मुद्रा और स्तंभों पर खुदी भाषा आज के भाषाविदों के लिए अभी भी अनसुलझी गुत्थी है। इसी क्रम में कुछ लोग मध्य कामल में ऐसे लेख या किताबें लिख गए है जिनकी भाषा वतर्ममान में प्रचलीत भाषा से भिन्न है और जिन्हें अभी तक नहीं पढ़ा जा सकता है। यह लिपियां गुहा चित्रों, भग्नावशेषों, समाधियों, मंदिरों, मृदाभांडों, मुद्राओं के साथ शिलालेखों, चट्टान लेखों, ताम्रलेखों, भित्ति चित्रों, ताड़पत्रों, भोजपत्रों, कागजों एवं कपड़ों पर अंकित है। 
 
भाषाओं के अस्तित्व बचाने की दौड़ में ऐसी कई भाषाएं और लिपियां लुप्त हो गई, जिन्हें आज रहस्यमयी माना जाता है। इनमें से कुछ ऐसी भाषा की पांडुलिपियां पाई गई है जो विज्ञान की नजरों में अत्यंत ही रहस्यमी ज्ञान से परिपूर्ण है। कुछ प्राचीन लिपियां आज भी एक अनसुलझी पहेली बनी हुई हैं। उनमें लिखित अभिलेख आज तक नहीं पढ़े जा सके हैं। कई वर्षों के शोध के बाद भी अभी तक यह पता नहीं चल पाया है कि इन लिपियों, मुद्राओं या शिलालेखों में क्या लिखा है। जिस दिन इसका पता चलेगा इतिहास का एक नया पन्ना खुलेगा। ऐसी ही कुछ नई और कुछ प्राचीन रहस्यमयी लिपियों के बारे में जानकर आप हैरान हो जाएंगे।
Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
Widgets Magazine
Widgets Magazine