शरीर से बाहर निकलने की अचूक विधि जानकर चौंक जाएंगे...

क्या आप चाहते हैं अपने शरीर से बाहर निकलकर उड़ते हुए देश-दुनिया में घूमना? ध्वनि की गति से भी तेज गति से उड़कर आप अमेरिका या अमेरिका से भारत आ सकते हैं। निश्चित ही सुनने में यह आपको कठिन, अजीब या हास्यापद लगे, लेकिन यह बहुत ही आसान है। आप इसे आजमाएंगे तो निश्चित ही सफल हो जाएंगे। आप से बाहर निकलकर पुन: अपने शरीर में लौट सकते हैं।
जिन्होंने उपनिषदों और ध्यान की सभी विधियों का अध्ययन किया है संभवत: वे जानते हैं कि यह कैसे संभव होगा। दरअस्ल अब तो यह वैज्ञानिकों के द्वारा भी सिद्ध हो चुका है कि व्यक्ति के भीतर एक और शरीर होता है जो नाभि और मस्तिष्क के केंद्र से जुड़ा होता है। इसे सूक्ष्म शरीर कहते हैं।

वैज्ञानि रिसर्च को जानने के लिए आगे क्लिक करें...
जब हम सो जाते हैं तो हमारा सूक्ष्म शरीर सक्रिय हो जाता है। यह शरीर ही देखता है और यही शरीर जागृत अवस्था में कल्पना करने की शमता रखता है। इसी से हमारे मन और बुद्धि जुड़ी हुई है; जिसका केंद्र है हमारे स्थूल मस्तिष्क के बीच स्थित पीनियल ग्रंथि। नाभि में उर्जा का मुख्‍य केंद्र होता है जबकि मस्तिष्क में चेतना का।
चित्र सौजन्य यूट्यूब
यह कंटेंट कॉपीराइट है।
अगले पन्ने पर कैसे होगा यह संभव...

Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :