इस्लाम धर्म के प्रमुख आधार जानिए

के कुछ प्रमुख आधार हैं, जो इस प्रकार हैं : -
खुदा को मानना, उसको सजदा करना।
 
तहारत यानी पवित्रता- इसी पर सभी उसूलों का आधार है। इसमें शरीर की पवित्रता, कपड़ों की पवित्रता आदि से लेकर मन की पवित्रता तक शामिल है।
 
नमाज- फजर, जोहर, असर, मगरिब और ईशा के वक्त पर पांच बार नमाज यानी खुदा की इबादत करना। अपनी इंद्रियों को काबू में 
रखना। गलत काम से दूर रहना।
 
हज यानी वह तीर्थयात्रा- जिसमें दुनिया के सभी मुसलमान बिना भेदभाव के भाग लेते हैं।
 
जकात- उन सभी व्यक्तियों पर यह वाजिब है जो धर्मदा दान कर सकते हैं। यह दान गरीबों, बेसहारों आदि के लिए व्यय किया जाता है। यह 2.50 पैसे प्रति सैकड़ा प्रतिवर्ष के हिसाब से देना होता है।
 
रोजा यानी व्रत- यह आत्मा की शुद्धि के लिए रखा जाता है। रमजान महीने में 30 दिन तक रोजे रखे जाते हैं। पूरा माह अल्लाह की इबादत में लगाना होता है। >  

Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :