0

वर्ष 2014 कैसा होगा आपके लिए

गुरुवार,जनवरी 2, 2014
0
1
नए साल के नए सूर्य की पहली किरण जब देश की राजधानी दिल्ली पर पड़ी, उस समय धनु लग्न धनु राशि व मूल नक्षत्र के साथ सिंह नवांश रहा। लग्न का स्वामी गुरु वक्री है, अतः राजधानी में हलचल अवश्य रहेगी।
1
2
नया साल 2014 देश के लिए खुशियों भरा रहेगा यही ग्रहों के शुभ संकेत हैं। यूं तो ग्रहण हर साल आते रहते हैं और मानव जीवन पर ग्रहण का प्रभाव भी पड़ता है। ग्रह भी उदय-अस्त होते हैं। लेकिन इस बार 2014 में विवाह के समय ना तो गुरु अस्त होगा ना ही शुक्र देव ...
2
3
नववर्ष की प्रातः धनु लग्न व धनु राशि में आई है। वर्षारंभ में गुरु की सप्तम दृष्टि लग्न पर स्वदृष्टि व चंद्र पर भी दृष्टि होने से गजकेसरी नाम का राजयोग बना। नए साल का संकेत है कि देश के युवा 2014 में अपनी आकांक्षाओं की पूर्ति करने में समर्थ होंगे।
3
4
मेष- शनि के लिए छाया दान करें। केतु के लिए काले कुत्ते को तेल लगाकर रोटी खिलाएं। गणेश आराधना ठीक रहे। अमावस्या को पितरों के निमित्त भोजन कराएं।
4
4
5
वर्ष 2014 का स्वागत करें और इस कामना के साथ कार्यक्षेत्र में जुट जाएं कि सबकुछ अच्छा होने वाला है। अर्थात आप पूरे साल संभावनाओं से भरे रहेंगे। जो बोएंगे उसी के अनुरूप काटेंगे। प्रयत्न, पहचान और पहुंच के लिए की गई पहल कारगर साबित होगी। इस साल आपकी ...
5
6
वर्ष 2014 के सितारे बता रहे हैं कि मेष राशि वालों के लिए यह वर्ष मिला-जुला फल प्रदान करेगा, हालांकि गत वर्ष की अपेक्षा यह वर्ष प्रयास करने पर बेहतर साबित होगा। मेष राशि वाले काफी मेहनती, अनुशासनप्रिय, कर्मठ, किसी भी काम को शुरू करते हैं तो पूरा करके ...
6
7
नया साल, नई खुशियां, नए सपने, नए अरमान और नए संकल्प लेकर आता है। हर नए साल पर हम सोचते हैं क्या इस साल नौकरी मिल जाएगी, क्या इस साल शादी हो जाएगी, क्या इस साल नया घर बन जाएगा, क्या इस साल घर में खुशियां चहकेगी, क्या इस साल प्रमोशन मिलेगा, कैसी रहेगी ...
7
8
मुंबई को फिल्मोद्योग की नगरी के नाम से भी जाना जाता है। पहले बॉम्बे, बंबई के नाम से जाना जाता था तब उसकी वृषभ राशि थी जो शुक्र प्रधान थी, उस समय फिल्म संसार खूब फला-फूला व आगे बढ़ता गया।
8
8
9
1 से 20 जनवरी तक अस्त रहेगा। 8 फरवरी से वक्री होगा। 10 फरवरी से 21 तक अस्त, फिर 28 फरवरी तक वक्री रहेगा। 13 अप्रैल से अस्त होकर 8 मई तक रहेगा। 8 जून से वक्री होकर 12 जून से अस्त व 28 जून तक अस्त फिर 1 जुलाई तक वक्री रहेगा।
9
10
स्त्री के कारक ग्रह चंद्र व शुक्र हैं। नववर्ष में शुक्र की स्थिति वक्री होकर शनि की राशि मकर में द्वितीय भाव में है व स्त्री का कारक चंद्र भी धनु का है। यह संयोग बताते हैं कि महिला विधेयक हर बार की तरह इस बार भी पास नहीं हो पाएगा।
10
11
मीन राशि के जातक श्रद्धालु और धार्मिक प्रवृत्ति के होते हैं। आदर्शवादी और जिज्ञासु होते हैं। परमार्थ और जनकल्याण की भावना से भी ओतप्रोत रहते हैं।
11
12
कुंभ राशि के जातक दार्शनिक, उदार होते हैं। आकर्षक और व्यवहार कुशल होने से मित्र जल्दी बनाते हैं। लेकिन सबके सामने अपनी प्रतिभा को व्यक्त करने में शरमाते हैं।
12
13
मकर राशि के जातक उदार तथा दूसरों के प्रति सहानुभूति रखते हैं। प्राय: संकोची होते हैं। स्वयं को परिस्थितियों के अनुसार ढाल लेते हैं। परिश्रमी होते हैं लेकिन मनचाहा परिणाम मिलने में समय लगता है।
13
14
धनु राशि के जातक आध्यात्म तथा पारंपारिक विचारवादी होते हैं। इन्हें ईश्वर में श्रद्धा होने पर भी पाखंड़ और दिखावा पसंद नहीं है। उदार और प्रेमी व्यक्तित्व, मानवीय गुण से परिपूर्ण लेकिन जल्दी क्रोध में आ जाते हैं।
14
15
वृश्चिक राशि के जातक आकर्षक और शक्तिशाली व्यक्तित्व वाले होते हैं। स्वतंत्र रूप से कार्य करने के कारण दूसरों का हस्तक्षेप पसन्द नहीं करते है। हास्यप्रेमी और आवेगी होते हैं। प्रेम में उत्साहित रहते हैं परंतु परंपरावादी होते हैं।
15
16
तुला राशि के जातक आकर्षक व्यक्तित्व के स्वामी होते हैं। संतोषी, न्यायप्रिय, संतुलित और दूरदर्शिता के साथ यथार्थवादी होते हैं। दूसरों की भावनाओं का सम्मान करते हैं और अपनों के हितों की अवहेलना होते नहीं देख सकते है।
16
17
कन्या राशि के जातक बुद्धिमान, विवेकी, आर्थिक, कूटनीतिक और चतुर होते हैं। इनकी रुचि कला और साहित्य में हो सकती है। आकर्षक व्यक्तित्व से जल्दी प्रभावित करते हैं, लेकिन स्वभाव से अन्तर्मुखी होते हैं।
17
18
सिंह राशि के जातक प्रभावशाली व्यक्तित्व के स्वामी होते हैं। स्वभाव से उत्साही, निड़र, साहसी और महत्वाकांक्षी होते हैं। सिद्धांतों व अनुशासित ढंग से कार्य करना इनकी प्रवृत्ति होती है। स्वभाव से दृढ़ निश्चयी होने से दूसरों की नहीं सुनते हैं। इनमें ...
18
19
कर्क राशि का स्वामी चन्द्रमा है इसलिए इस राशि के जातक बेहद संवेदनशील और जिज्ञासु होते हैं। परिवार और बच्चों के साथ बहुत लगाव होता है। सफेद वस्तुओं और जल तत्व से जुडे व्यापार या नौकरी में लाभ होता है।
19