उन्नाव गैंगरेप कांड, गिरफ्तार विधायक बोले- भगवान और न्यायपालिका पर भरोसा

लखनऊ। आज उन्नाव गैंगरेप कांड के आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को कोर्ट में सीबीआई ने हाजिर कर दिया है। सेंगर को 13 तारीख की सुबह 4:00 बजे सीबीआई ने हिरासत में लेते हुए लगभग 4:30 बजे लखनऊ में सीबीआई मुख्यालय लेकर आ गई थी और तब से आज दोपहर तक लंबी पूछताछ के बाद सीबीआई के विशेष दल ने विधायक कुलदीप सेंगर को सीजीएम सुनील कुमार की कोर्ट में पेश किया है। कोर्ट के अंदर जाते वक्त विधायक सेंगर ने रुंधे गले से कहा कि भगवान पर भरोसा है, न्यायपालिका पर भरोसा है, चिंता मत करो, सब खुल जाएगा।

ज्यादा कुछ बोल पाते इससे पहले ही सीबीआई की टीम उन्‍हें लेकर अंदर चली
गई। गौरतलब है कि उन्नाव की दुष्कर्म पीड़िता ने रविवार (आठ अप्रैल) को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के बंगले के सामने परिवार के साथ पहुंचकर आत्महत्या की कोशिश की
थी।

आरोप है कि पिछले साल विधायक और उनके साथियों ने उसके साथ दुष्कर्म किया, मगर पुलिस दबाव में कार्रवाई नहीं कर रही। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलने के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं हुई। आत्महत्या की कोशिश करने पर पुलिस ने पीड़िता को कस्टडी में ले लिया था।

उधर इससे पहले चार अप्रैल की शाम को पीड़िता के पिता सुरेंद्र सिंह उर्फ पप्पू सिंह की गांव के ही टिंकू सिंह से लड़ाई हो गई थी। पप्पू सिंह ने आरोप लगाया था कि विधायक सेंगर के भाई अतुल सिंह ने साथियों के साथ मिलकर उसकी पिटाई की और उल्टे पुलिस को सौंपकर जेल भिजवा दिया।

रविवार को जब पप्पू सिंह की हालत खराब हुई तो उन्हें जिला अस्पताल लाया गया। पुलिस ने चिकित्सकों को पेट दर्द और उल्टी होने की बात कही। इस बीच सोमवार की अलसुबह ही पप्पू का निधन हो गया और इसके बाद तत्काल आनन-फानन में विधायक कुलदीप के भाई अतुल के साथ चार अन्य को पुलिस ने हिरासत में ले लिया था।

लेकिन विधायक पुलिस ने हिरासत में यह कहते हुए नहीं लिया था कि अभी उनके खिलाफ कोई साक्ष्य नहीं है, लेकिन जब पूरे मामले की जांच करने के लिए सीबीआई की टीम को गठित कर दिया गया तो सीबीआई ने सबसे पहले विधायक कुलदीप को हिरासत में लेते हुए लंबी पूछताछ के बाद गिरफ्तार कर लिया और जिसकी आधिकारिक रूप से पुष्टि सीबीआई के उच्च अधिकारी ने भी कर दी।

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :