अमेरिका मुस्लिमों के लिए मित्रवत नहीं रहा: प्यू रिसर्च सेंटर

Last Updated: रविवार, 30 जुलाई 2017 (13:25 IST)
वाशिंगटन। प्यू रिसर्च सेंटर के 26 जुलाई के एक सर्वे में बताया गया है कि अमेरिका में लगातार वातावरण मुस्लिमों के प्रति अनुदार देश होता जा रहा है।
इस अध्ययन में बताया गया है कि जिन मुस्लिम लोगों से बात की गई उसमें से करीब तीन- चौथाई लोगों ने कहा कि 'अमेरिका में मुस्लिमों के साथ बहुत भेदभाव' होता है और इनमें से दो तिहाई का कहना था कि जिस दिशा में यह देश जा रहा है, वे इससे संतुष्ट नहीं हैं। यह बात सिन्हुआ की एक रिपोर्ट में भी कही गई है।

विदित हो कि 2011 के बाद मुस्लिमों की राय उल्टी हो गई है और तब बराक ओबामा अमेरिका के राष्ट्रपति थे और ज्यादातर लोगों का मानना था कि देश सही दिशा में आगे बढ़ रहा है। इस सर्वे में कहा गया है कि जवाब देने वाले 48 फीसदी लोगों का कहना था कि वे पिछले एक साल के दौरान भेदभाव की कम से कम एक घटना का शिकार हो चुके हैं।
विदित हो कि वर्ष 2007 में इस प्रकार की बातों का प्रसार देश में केवल 40 फीसदी था और पिछले वर्ष के दौरान पांच में से एक मुस्लिम को उनके समुदाय में मुस्लिम विरोधी बातें लिखी देखी गईं। सर्वे में यह भी कहा गया कि मुस्लिम ट्रम्प से आशंकित हैं लेकिन उनके साथी अमेरिकियों का कहना था कि इस्लाम अमेरिका की मुख्यधारा की एक हिस्से के तौर पर नहीं देखा जाता है।

लेकिन इसके बावजूद मुस्लिम अमेरिकी सकारात्मक और आशावादी बने रहे हैं लेकिन इनमें से करीब 89 फीसदी लोगों का मानना था कि वे अपने मुस्लिम होने और अमेरिकी होने पर गर्व करते हैं। ऐसा माना जाता है कि मोटे तौर पर 33.50 लाख मुस्लिम अमेरिका में रहते हैं।

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :