अमेरिका में पढ़ने वाले भारतीय छात्रों को बड़ा झटका, अमेरिका ने सख्त की स्टूडेंट पॉलिसी, तोड़ने पर लगेगा 10 साल का बैन

पुनः संशोधित शनिवार, 11 अगस्त 2018 (13:14 IST)
अमेरिका ने अपने यहां रहने वाले विदेशों छात्रों के लिए नीतियों को सख्त कर दिया है। इस नीतियों का उल्लंघन करने वाले छात्रों पर अमेरिका में घुसने पर 10 का प्रतिबंध लगाया जा सकता है। बताया जा रहा है कि नियम सख्त होने से का असर अमेरिका में पढ़ रहे 1.86 लाख भारतीय छात्रों पर भी पड़ेगा। नए प्रावधान 9 अगस्त से लागू हो गए हैं।
अमेरिका ने अपने यहां पढ़ रहे विदेशी छात्रों के लिए नियमों को सख्त कर दिया है। स्टूडेंट स्टेटस का उल्लंघन करने पर स्टूडेंट और उसके परिवार वालों की अमेरिका में मौजूदगी गैर-कानूनी मानी जाएगी, भले ही वीजा अवधि खत्म न हुई हो। पहले नियम यह था कि जिस दिन दोष साबित होता या फिर आप्रवासी मामलों का जज आदेश जारी करता था, उस दिन से अमेरिका में रहना अवैध माना जाता था। नई नीति के अनुसार180 दिन तक अनाधिकृत रूप से रहने वालों की अमेरिका में फिर से एंट्री पर 10 साल का प्रतिबंध लग सकता है।
नए नियमों के मुताबिक तय वक्त से ज्यादा समय टिकना तो गैरकानूनी प्रवास माना ही जाएगा लेकिन इसके और भी कारण हो सकते हैं। कोई छात्र संस्थान के मुताबिक तय घंटे नहीं बिताएगा तो यह स्टूडेंट स्टेटस के नियमों का उल्लंघन होगा। पढ़ाई पूरी होने पर के बाद मिलने वाले ग्रेस पीरियड के बाद अमेरिका में रुकने या अनाधिकृत रूप से नौकरी करने पर भी कार्रवाई की जा सकती है।

चीन के बाद भारत के छा‍त्रों की अमेरिका में सबसे ज्यादा संख्या है। ओपन डोर्स 2017 की रिपोर्ट के अनुसार भारत के 1.86 लाख छात्र अमेरिका में पढ़ाई कर रहे हैं। अमेरिका के आंतरिक सुरक्षा विभाग की रिपोर्ट में सामने आया कि पिछले साल 1,27,435 एफ, जे और एम कैटेगरी के जरिए अमेरिका पहुंचे। इनमें से 4,400 वीजा अवधि खत्म होने के बाद भी वहां रुके रहे। कुल 21 हजार से ज्यादा भारतीय तय समय पूरा होने के बाद भी अमेरिका में रुके।

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :

कविता : श्रावण माह में शिव वंदना

कविता : श्रावण माह में शिव वंदना
शिव है अंत:शक्ति, शिव सबका संयोग। शिव को जो जपता रहे, सहे न कभी वियोग। शिव सद्गुण विकसित ...

कपल्स के लिए अब बच्चे नहीं रहे प्राथमिकता, कुछ है जो इससे ...

कपल्स के लिए अब बच्चे नहीं रहे प्राथमिकता, कुछ है जो इससे भी जरूरी है....
बदलते वक्त के साथ अब महिलाओं की प्रेग्‍नेंसी को लेकर सोच भी काफी बदल गई है। आज की महिलाएं ...

ये रहा कैंसर का प्रमुख कारण, इसे रोक लिया तो समझो कैंसर की ...

ये रहा कैंसर का प्रमुख कारण, इसे रोक लिया तो समझो कैंसर की छुट्टी
बीमारी कितनी ही बड़ी क्यों न हो, सही इलाज और सावधानियां अपनाकर इस पर जीत पाई जा सकती है। ...

कविता : नहीं चाहिए चांद

कविता : नहीं चाहिए चांद
मुझे नहीं चाहिए चांद/और न ही तमन्ना है कि सूरज कैद हो मेरी मुट्ठी में

तीन तलाक : शांति अब शोर में तब्दील हो चुकी है

तीन तलाक : शांति अब शोर में तब्दील हो चुकी है
जिस तरह से संसार में दो ही चीजें दृश्य हैं, प्रकाश और अंधकार। उसी तरह श्रव्य भी दो ही ...

घर की कौनसी दिशा बदल सकती है आपकी दशा, जानिए वास्तु के ...

घर की कौनसी दिशा बदल सकती है आपकी दशा, जानिए वास्तु के अनुसार
चारों दिशाओं से सुख-संपत्ति और सम्मान पाना है तो जानें वास्तु के अनुसार कैसी हो भवन की ...

समस्त पापों से मुक्ति देता है शिव महिम्न स्तोत्र, श्रावण ...

समस्त पापों से मुक्ति देता है शिव महिम्न स्तोत्र, श्रावण में अवश्य पढ़ें... (हिन्दी अर्थसहित)
श्रावण मास के विशेष संयोग पर भगवान शिव को पुष्पदंत द्वारा रचित शिव महिम्न स्तोत्र से ...

नागपंचमी की 2 रोचक और प्रचलित कथाएं

नागपंचमी की 2 रोचक और प्रचलित कथाएं
किसी राज्य में एक किसान परिवार रहता था। किसान के दो पुत्र व एक पुत्री थी। एक दिन हल जोतते ...

नागपंचमी पर पढ़ें पौराणिक और पवित्र कथा,जब सर्प ने भाई बन ...

नागपंचमी पर पढ़ें पौराणिक और पवित्र कथा,जब सर्प ने भाई बन कर की बहन की रक्षा
सर्प ने प्रकट होकर कहा- यदि मेरी धर्म बहन के आचरण पर संदेह प्रकट करेगा तो मैं उसे खा ...

15 अगस्त 2018 को मनाया जाएगा नागपंचमी का पर्व भी, जानें ...

15 अगस्त 2018 को मनाया जाएगा नागपंचमी का पर्व भी, जानें पूजा का मुहूर्त और विधि
श्रावण मास की शुक्‍ल पक्ष की पंचमी को पूरे उत्‍तर भारत में नागपंचमी का पर्व मनाया जाता ...