Widgets Magazine

नए अंतरिक्ष यात्रियों में एक भारतीय अमेरिकी भी

फ्लोरिडा। नासा ने अपने अंतरिक्ष मिशन के लिए 12 नए अंतरिक्ष यात्रियों का चयन किया है जिनमें से एक भारतीय अमेरिकी भी है। विदित हो कि नासा ने यह चुनाव रिकॉर्ड 18300 आवेदकों के बीच किया है। नासा ने इन अंतरिक्ष यात्रियों का चयन धरती की कक्षा से गहरे अंतरिक्ष में अध्ययन के लिए किया गया है। इसके अनुसार इन्हें अब ट्रेनिंग दी जाएगी।
 
नासा द्वारा चुने गए लोगों में से 7 पुरुष और 5 महिलाएं हैं। ये पिछले 20 सालों में सबसे बड़ा ग्रुप अंतरिक्ष मिशन पर जाने के लिए चुना गया है। चुने गए 12 लोगों में 6 सेना के अधिकारी, 3 वैज्ञानिक, 2 मेडिकल डॉक्टर और एक स्पेसएक्स का इंजीनियर है। इसके अलावा इस टीम में एक नासा का रिसर्च पायलट भी होगा। इन चुने गए लोगों में एक भारतीय अमेरिकी भी हैं उनका नाम राजा गिरिंदरचारी है।
 
लेफ्टिनेंट कर्नल राजा गिरिंदरचारी 39 साल के हैं और वे 461वें फ्लाइट टेस्ट स्कवाड्रन के कमांडर और कैलिफोर्निया में एडवर्ड एयरफोर्स बेस पर एम 35 इंटीग्रेटेड टेस्ट फोर्स के डायरेक्टर भी हैं। वे वाटरलू में रहते हैं और उन्होंने एमआईटी से एयरोनॉटिक्स में मास्टर्स डिग्री हासिल की थी। इसके अलावा उन्‍होंने यूएस नेवल टेस्ट पायलट स्कूल से ग्रेजुएशन किया। उनके पिता भारतीय हैं। नए अंतरिक्ष यात्री उम्मीदवारों को अगस्त महीने से अंतरिक्ष यान प्रणाली, स्पेसवाकिंग स्किल्स, टीमवर्क, रूसी भाषा तथा अन्य जरूरतों का प्रशिक्षण दिया जाएगा।
 
बयान के मुताबिक, 'दो साल का प्रशिक्षण पूरा करने के बाद नए अंतरिक्ष यात्री उम्मीदवारों को अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष केंद्र में मिशन से संबंधित शोध कार्य में लगाया जा सकता है। नासा ने कहा, अमेरिका में पहले से कहीं अधिक संख्या में मानव अंतरिक्ष यानों का विकास हो रहा है, भविष्य के अंतरिक्ष यात्री लोगों को पहले से कहीं अधिक तेजी से अंतरिक्ष में ले जाएंगे।
Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
Widgets Magazine