Widgets Magazine

इंडो-जर्मन सोसाइटी की 50वीं वर्षगांठ पर तीन भारतीय हस्तियां सम्मानित

पुनः संशोधित सोमवार, 6 जून 2016 (19:22 IST)
रेमसाईड। मानवाधिकार जननिगरानी समिति के कार्यालय पर बैठक कर रेमसाइड शहर में मिलने वाले सम्मान के लिए और डॉ. लेनिन रघुवंशी को बधाई दी गई। इंडो-जर्मन सोसाईटी के 50वीं वर्षगाठ के अवसर पर जर्मनी के रेम्साईड शहर में भारत की तीन हस्तियों सुश्री रूबी राय, पंडित विकास महाराज और डॉ. लेनिन रघुवंशी को सम्मानित किया गया।  
जर्मनी में ही निवास करती है और वहाँ पर भारतीय व्यंजनों को स्थापित करने का उत्कृष्ट कार्य किया है। वाराणसी के रहने वाले  पंडित विकास महाराज भारत के सुविख्यात सरोद वादक के रूप में जाने जाते हैं और उन्हें 'यश भारती'  सम्मान से भी नवाजा जा चुका है।
वाराणसी के ही रहने वाले देश-दुनिया में मानवाधिकार कार्यकर्ता के रूप में विख्यात डॉ. लेनिन रघुवंशी को आजीवन मानद सदस्यता के रूप में यह सम्मान दिया गया। यह सम्मान इंडो-जर्मन सोसाईटी, रेमसाईड, जर्मनी व रेमसाईड के सिटी काउन्सिल ने मिलकर दिया है। 
 
उल्लेखनीय है कि पंडित विकास महाराज अपने परिवार के साथ उस समय में उपस्थित थे और डॉ. लेनिन को उनकी अनुपस्थिति में यह सम्मान दिया गया। इस अवसर पर इंडो-जर्मन सोसाइटी, रेमसाईड व मानवाधिकार जननिगरानी समिति द्वारा संयुक्त रूप से वाराणसी के बघवानाला व सोनभद्र के रौप गाँव में किए गए कार्य की वीडियो व लेनिन रघुवंशी का वीडियो संदेश दिखाया गया। यह वीडियो जर्मनी के मारियोज व भारत के रोहित कुमार ने संयुक्त रूप में निर्मित किया था।  
      
इंडो-जर्मन सोसाइटी जर्मनी में भारत की संस्कृति व विभिन्न मुद्दों पर कार्य करने वाली सबसे बड़ी संस्था है पूरे जर्मनी में इसकी 53 स्वतंत्र इकाइयां है जिसमे 3500 से ज्यादा सदस्य है। 
 
रेमसाईड के इस कार्यक्रम में इंडो-जर्मन सोसाइटी के अध्यक्ष व भारत में जर्मनी के पूर्व राजदूत Dr. Hans-Georg Wieck, भारतीय दूतावास फ्रैंकफर्ट की प्रतिनिधि मिस सोनी दहिया, रेक्सईड शहर के मेयर Burkhard Mast-Weisz, इंडो-जर्मन सोसाइटी की अध्यक्षा सुश्री हेलमा रिचा आदि जर्मनी के प्रांतीय सरकार के प्रतिनिधि, शहर के प्रतिष्ठित व्यक्ति और प्रतिष्ठित बैंको के प्रतिनिधि उपस्थित थे।
 
सनद रहे कि जर्मन संसद की उपाध्यक्ष व ग्रीन पार्टी की सुप्रसिद्ध राजनेता सुश्री क्लाउडिया रोथ ने मानवाधिकार जननिगरानी समिति (PVCHR) को फरवरी 2015 में नई दिल्ली में आयोजित रात्रि भोज में जर्मन संसद का स्मृति चिन्ह देकर समिति के कार्यो को सम्मनित किया था। आज इस बैठक में मानवाधिकार जननिगरानी समिति के समस्त कार्यकर्ता उपस्थित थे।
Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
Widgets Magazine
Widgets Magazine