नॉर्थवेस्टर्न स्टूडेंट्‍स ने हैल्थ सपोर्ट ग्रुप बनाया

Last Updated: शनिवार, 23 सितम्बर 2017 (13:01 IST)
मिलवाकी। खानपान की गड़बड़ी से राहत पाने के बाद उत्तरपश्चिमी यूनिवर्सिटी वीयनबर्ग कॉलेज ऑफ आर्ट्स एंड साइंसेज की जूनियर ने मानसिक बीमारियों से संघर्ष कर रहे भारतीय अमेरिकियों की मदद के लिए एक ग्रुप बनाया।

श्रीधर ने अपने करीबी सहयोगी गुट को पांच अन्य सहयोगियों के साथ इस वर्ष के अंत तक शुरू करने का फैसला किया। उन्होंने सामाजिक न्याय संगठन को 'आई एम शक्ति' का नाम दिया है। श्रीधर द्वारा स्थापित इस ग्रुप से नए छात्र श्याम मणि, जूनियर ऐश्वर्य चेनजी, पहली वर्ष के छात्र अर्चित भास्करन और मोहन रवि तथा यूनिवर्सिटी ऑफ विस्कोंसिन की जूनियर रागेश्री कोमनपुर जुड़े हैं।

यूनिवर्सिटी न्यूज की रिपोर्ट के मुताबिक, ये लोग जरूरतमंदों से बातचीत कर मानसिक बीमारियों का सामना करने वाले छात्रों को सहायता उपलब्ध कराएंगे। ग्रुप का कहना है कि ' हमारा उद्देश्य मानसिक बीमारियों से उबर रहे भारतीय अमेरिकियों के साथ मिलकर उनकी मुसीबतों को दूर करने का प्रयास करेंगे।

भारतीय अमेरिकी दो अलग-अलग सांस्कृतिक पृष्ठभूमियों से आते हैं और बहुत से ऐसे होते हैं जोकि सांस्कृतिक तौर पर सम्पन्न पृष्ठभूमि से आते हैं और उनका कहना है कि एक अमेरिकी के तौर पर समुदाय में फलने फूलने के लिए अपनी पहचान को बेहतर बनाने के लिए अपनी अलग संस्कृति को बनाए रखने के साथ-साथ पर्याप्त अमेरिकी बनने का प्रयास करें।

एक लम्बे समय के दौरान उम्मीद की जाती है कि यह ग्रुप एक नेशनल सोशल जस्टिस आंदोलन का रूप लेगा।

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :

यदि पैरेंट्स के व्यवहार में हैं ये 4 बुरी आदतें तो आपके ...

यदि पैरेंट्स के व्यवहार में हैं ये 4 बुरी आदतें तो आपके बच्चे को बिगड़ने से कोई नहीं रोक सकता!
पैरेंट्स की कुछ ऐसी आदतें होती हैं, जो वे बच्चों को सुधारने, कुछ सिखाने-पढ़ाने और नियंत्रण ...

क्या आप भी संकोची हैं, अपना ही सामान मांग नहीं पाते हैं तो ...

क्या आप भी संकोची हैं, अपना ही सामान मांग नहीं पाते हैं तो यह एस्ट्रो टिप्स आपके लिए है
क्या आप भी संकोची हैं, अगर हां तो यह आलेख आपके लिए है...

कैंसर की रिस्क लेना अगर मंजूर है तो ही इन 7 सामान्य लक्षणों ...

कैंसर की रिस्क लेना अगर मंजूर है तो ही इन 7 सामान्य लक्षणों को नजरअंदाज करें, वरना हो सकती है बड़ी परेशानी
ये बीमारी भी ऐसे ही सामने नहीं आती। इसके भी लक्षण हैं जो आप और हम जैसे लोग अनदेखा करते ...

5 ऐसी चीजें जो लिवर की बीमारी को करती हैं दूर, एक बार पढ़ें ...

5 ऐसी चीजें जो लिवर की बीमारी को करती हैं दूर, एक बार पढ़ें जरूर
आप खाने के शौकीन हैं लेकिन क्या आप महसूस कर रहे हैं कि पिछले कुछ समय से आपका पाचन थोड़ा ...

दोमुंहे बालों से छुटकारा पाना चाहती हैं, तो ये 4 तरीके ...

दोमुंहे बालों से छुटकारा पाना चाहती हैं, तो ये 4 तरीके अपनाएं
जब बालों का निचला हिस्सा दो भागों में बंट जाता है, तब उसे बालों का दोमुंहा होना कहते हैं। ...

फुटबॉल के मैदान से हटकर अब चर्चा कूटनीति के मैदान की

फुटबॉल के मैदान से हटकर अब चर्चा कूटनीति के मैदान की
दुनिया का सबसे बड़ा और रोमांच से भरपूर फुटबॉल मेला समाप्त हुआ। करोड़ों को रुला लिया, ...

प्रेम गीत : नाराज़ हैं मेहरबाँ मेरे

प्रेम गीत : नाराज़ हैं मेहरबाँ मेरे
नाराज़ हैं मेहरबाँ मेरे,अब आ भी जाओ,कि अंजुमन को तेरी दरक़ार है, ढूँढता रहा,

कैसे करें देवशयनी एकादशी व्रत, क्या मिलेगा इस व्रत का फल, ...

कैसे करें देवशयनी एकादशी व्रत, क्या मिलेगा इस व्रत का फल, जानिए...
आषाढ़ शुक्ल पक्ष की एकादशी को ही देवशयनी एकादशी कहा जाता है। इस दिन से भगवान श्री हरि ...

कैसा है शिव का स्वरूप, क्यों माने गए हैं स्वयंभू, जानिए...

कैसा है शिव का स्वरूप, क्यों माने गए हैं स्वयंभू, जानिए...
शिव यक्ष के रूप को धारण करते हैं और लंबी-लंबी खूबसूरत जिनकी जटाएं हैं, जिनके हाथ में ...

ग़ज़ल: सर झुकाना आ जाये

ग़ज़ल: सर झुकाना आ जाये
नज़ाकत-ए-जानाँ1 देखकर सुकून-ए-बे-कराँ2 आ जाये, चाहता हूँ बेबाक इश्क़ मिरे बे-सोज़3 ज़माना ...