भारतीय प्रवासियों को अमेरिका से निष्कासन का भय

वॉशिंगटन|



वॉशिंगटन। अमेरिका के के
(डीएसीए) को रद्द करने के फैसले के बाद उन हजारों भारतीयों को देश से निकाले जाने का
भय सता रहा है जिन्हें तब यहां अवैध रूप से लाया गया था, जब वे बच्चे थे। एक दक्षिण
एशिया एड्वोकेसी ग्रुप ने यह कहा।

साउथ एशियन अमेरिकंस लीडिंग टूगेदर (एसएएएलटी) के एक अनुमान के अनुसार ऐसे
भारतीयों की तादाद 20,000 से भी अधिक हो सकती है।

अमेरिका के अटॉर्नी जनरल जेफ सेशंस ने मंगलवार को ओबामा कार्यकाल के एक आम माफी कार्यक्रम डेफर्ड एक्शन फॉर चिल्ड्रन अराइवल (डीएसीए) को रद्द करने की घोषणा की
थी। इस कार्यक्रम के तहत ऐसे लोगों को कामकाज करने का परमिट दिया जाता है जिन्हें
गैरकानूनी ढंग से तब देश लाया गया था, जब वे बच्चे थे। यह घोषणा पूर्वानुमानित थी
जिस पर देशभर में प्रदर्शनकारियों ने विरोध जताया।

एसएएएलटी की कार्यकारी निदेशक सुमन रघुनाथन ने कहा कि 5,500 भारतीय एवं
पाकिस्तानियों समेत 27,000 से अधिक एशियाई अमेरिकी नागरिकों को मिल चुका है और ऐसा अनुमान है कि भारत से 17,000 और पाकिस्तान से 6,000 नागरिक डीएसीए
के लिए योग्यता रखते हैं।

इस तरह भारत डीएसीए योग्यता रखने वाले शीर्ष 10 देशों में आता है। उन्होंने कहा कि
डीएसीए को रद्द करने के साथ इन नागरिकों को देश से वापस भेजा जा सकता है लेकिन
इसका फैसला प्रशासन करेगा। एक वक्तव्य में साउथ एशियन बार एसोसिएशन (एसएबीए)
के अध्यक्ष ऋषि बग्गा ने कहा कि बेहतर भविष्य का सपना देखने वालों को उनके माता-पिता बेहतर जीवन की उम्मीद में यहां लेकर आए थे। (भाषा)

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :

लिपबाम के फायदे जानते हैं और इसे लगाते हैं, तो इसके नुकसान ...

लिपबाम के फायदे जानते हैं और इसे लगाते हैं, तो इसके नुकसान भी जरूर जान लें
लिप बाम सौंदर्य प्रसाधन में आज एक ऐसा प्रोडक्ट बन चुका है, जिसके बिना किसी लड़की व महिला ...

पति यदि दिखाए थोड़ी सी समझदारी तो पत्नी भूल जाएगी नाराज होना

पति यदि दिखाए थोड़ी सी समझदारी तो पत्नी भूल जाएगी नाराज होना
पति-पत्नी के बीच घर के दैनिक कार्य को लेकर, नोकझोंक का सामना रोजाना होता हैं। पति का ...

क्या आपको भी होती है एसिडिटी, जानिए प्रमुख कारण और बचाव

क्या आपको भी होती है एसिडिटी, जानिए प्रमुख कारण और बचाव
मिर्च-मसाले वाले पदार्थ अधिक सेवन करने से एसिडिटी होती है। इसके अतिरिक्त कई कारण हैं ...

फलाहार का विशेष व्यंजन है चटपटा साबूदाना बड़ा

फलाहार का विशेष व्यंजन है चटपटा साबूदाना बड़ा
सबसे पहले साबूदाने को 2-3 बार धोकर पानी में 1-2 घंटे के लिए भिगो कर रख दें।

बालों को कलर करते हैं, तो पहले यह सही तरीका जरूर जान लें

बालों को कलर करते हैं, तो पहले यह सही तरीका जरूर जान लें
हर बार आप सैलून में ही जाकर अपने बालों को कलर करवाएं, यह संभव नहीं है। बेशक कई लोग हमेशा ...

मछली खाने से कैंसर और हृदय रोग होने का खतरा कम, रिसर्च का ...

मछली खाने से कैंसर और हृदय रोग होने का खतरा कम, रिसर्च का दावा
बीजिंग। ओमेगा-थ्री फैटी एसिड युक्त मछली या अन्य खाद्य वस्तुएं खाने से कैंसर या हृदय ...

नीरज की जीवनी : जीवन से रचे बसे गीत की रचना में माहिर थे ...

नीरज की जीवनी : जीवन से रचे बसे गीत की रचना में माहिर थे गोपाल दास नीरज
मुंबई। भारतीय सिनेमा जगत में गोपाल दास नीरज का नाम एक ऐसे गीतकार के तौर पर याद किया जाएगा ...

हल्दी में मक्के का पाउडर, मिर्च में चावल की भूसी... घातक है ...

हल्दी में मक्के का पाउडर, मिर्च में चावल की भूसी... घातक है मिलावट का बाजार, कर रहा है सेहत पर अत्याचार
मिलावटी सामान बेचकर लोगों को ठगा जा रहा है, साथ ही उनके स्वास्थ्य के साथ भी खिलवाड़ किया ...

नदी को धर्म मानने से ही गंगा को बचाना संभव

नदी को धर्म मानने से ही गंगा को बचाना संभव
दुनिया की सबसे पवित्र मानी जाने वाली नदी होने के साथ ही गंगा दुनिया की सबसे प्रदूषित ...

क्या आपके हाथों का रंग, चेहरे के रंग से मेल नहीं खाता? तो ...

क्या आपके हाथों का रंग, चेहरे के रंग से मेल नहीं खाता? तो आजमाएं आसान से 5 घरेलू उपाय
आइए, आपको हम कुछ आसान से घरेलू उपाय बताते हैं जिन्हें आजमाने पर आपके हाथों का रंग भी आपके ...