प्रख्यात चित्रकार एसएच रजा को फ्रांस का सर्वोच्च नागरिक सम्मान

नई दिल्ली|
नई दिल्ली। आधुनिक सैयद हैदर रजा को के 'द लीजन  ऑफ ऑनर' से नवाजा गया है। उन्हें यह सम्मान उनकी लाजवाब उपलब्धियों के लिए दिया गया है।  
फ्रांस के राष्ट्रीय दिवस के मौके पर मंगलवार देर शाम यहां में एक कार्यक्रम में फ्रांस के  राजदूत फ्रेंकोइ रिचियर ने यह पुस्कार उन्हें प्रदान किया।
 
रजा ने अपने स्वीकृति भाषण में कहा कि मैं इस मौके पर फ्रांस की कला और उसके कलाप्रेमियों को  सलाम करता हूं और इसे बहुत सम्मान से स्वीकार करता हूं। मैं तहे दिल से शुक्रगुजार हूं। रजा का  स्वीकृति भाषण उनके मित्र जान-माने कवि और निबंधकार अशोक वाजपेयी ने पढ़ा।
 
93 वर्षीय कलाकार को फ्रांस का सर्वोच्च सम्मान मिलना उनकी सीमाओं से परे उपलब्धियों और फ्रांस  और भारत के बीच उन्होंने जो स्थायी संबंध बनाए हैं, उसको पहचान है। साथ ही में उनकी राष्ट्रों में  कलाओं की खोज, संस्कृतियों, धर्मों और दर्शनों को जोड़ने को भी पहचान मिली है।
 
इस सम्मान की शुरुआत 1802 में नेपोलियन बोनापार्ट ने की थी और यह पुरस्कार फ्रांस के लिए  उत्कृष्ट सेवा के लिए दिया जाता है, चाहे जो भी नागरिकता हो।
 
रिचियर ने कहा कि सम्मान फ्रांस के राष्ट्रपति की ओर से दिया गया है और यह न सिर्फ उनको मान्यता  देता है जिन्होंने हमारे साथ काम किया है, बल्कि जिनके बारे में हम मानते हैं कि उन्होंने विश्व को  खूबसूरत और बेहतर बनाया है। वास्तव में यह रजा का मामला है।
 
इस मौके रजा के जीवन पर 2 भाषाओं में लिखी पुस्तक का भी विमोचन किया गया। यह पुस्तक फ्रेंच  में 2003 में लिखी गई थी और अब इसका अंग्रेजी में अनुवाद किया गया। (भाषा)
 
 


और भी पढ़ें :