चैत्र नवरात्रि में क्या करें मनचाही इच्‍छापूर्ति के लिए

Author पं. उमेश दीक्षित|
हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी चैत्र शुक्ल प्रतिपदा 21 मार्च 2015, शनिवार को अर्की है। इस बार संवत्सर 'कीलक' नाम से माना जाएगा, जो पूरे वर्षभर संकल्प में प्रयोग किया जाएगा।
 
पूजन प्रयोग में सरस्वती, महाकाली, महालक्ष्मी, लक्ष्मी या दुर्गाजी के चित्र-यंत्र-प्रतिमा का प्रयोग किया जा सकता है। 
 
 

Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :