शशि थरूर के बयान से कांग्रेस ने झाड़ा पल्ला

नई दिल्ली| पुनः संशोधित शुक्रवार, 13 जुलाई 2018 (00:06 IST)
नई दिल्ली। ने अपने वरिष्ठ नेता एवं सांसद के 'हिन्दू पाकिस्तान' संबंधी से पल्ला झाड़ते हुए पार्टी नेताओं को अपनी बात कहते समय सावधानी बरतने और शब्दों का ध्यान से इस्तेमाल करने की सलाह दी है।
थरूर ने कहा था कि भारतीय जनता पार्टी यदि 2019 में फिर सत्ता में आती है तो भारत 'हिन्दू पाकिस्तान' बन जाएगा क्योंकि वह नया संविधान लिखेगी जिसमें हिन्दू राष्ट्र की बात होगी और अल्पसंख्यकों के लिए समानता खत्म कर दी जाएगी।

भाजपा ने थरूर के इस बयान पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए गुरुवार को कहा कि कांग्रेस भारत एवं देश की लोकतांत्रिक व्यवस्था को बदनाम करने तथा हिन्दुओं को आतंकवाद से जोड़ने की तुष्टिकरण की राजनीति पर लौट आई है। कांग्रेस प्रवक्ता जयवीर शेरगिल ने यहां इस संबंध में पत्रकारों के सवाल पर कहा कि देश का लोकतंत्र इतना मजबूत है कि हिन्दुस्तान कभी भी पाकिस्तान जैसा नहीं बन सकता।


उन्होंने कहा कि हर देशवासी जानता है कि भारत का लोकतंत्र इतना मजबूत है कि सरकारें आती–जाती रहें, बदलती रहें, हिन्दुस्तान का लोकतंत्र कभी हिन्दुस्तान को पाकिस्तान नहीं बनने देगा। हिन्दुस्तान एक बहुभाषी और बहुधर्मी देश है। कांग्रेस पार्टी का इसमें एक महत्वपूर्ण योगदान है।

उन्होंने कांग्रेस नेताओं से भी अपनी बात कहते समय सावधान रहने की गुजारिश की और कहा कि मैं हर नेता से गुजारिश करुंगा कि अपने शब्दों को जरा ध्यान से चुनें और सावधानी से बयान दें। मैं कांग्रेस पार्टी के हर नेता, कार्यकर्ता को गुजारिश करुंगा कि इस बात का वो ध्यान रखें कि किस तरह के बयान देने हैं।

प्रवक्ता ने कहा कि चाहे भाजपा सरकार अपने नेताओं के आपत्तिजनक बयान पर चुप्पी और मौन व्रत कभी नहीं तोड़ती, चाहे भाजपा सरकार पाकिस्तान आईएसआई को हिन्दुस्तान में बुलाए, चाहे भाजपा पाकिस्तान को जम्मू-कश्मीर के चुनाव के लिए शुक्रिया कहे, चाहे भाजपा के मंत्री अपराधियों के लिए हार डलवा कर देश के संविधान को हरवा दे।

पर हमारा देश कभी पाकिस्तान नहीं बन सकता। इस मामले पर विवाद बढने के बाद थरूर ने कहा कि उन्होंने अपनी बात व्यक्तिगत हैसियत से रखी है, पार्टी के तरफ से नहीं। वे कांग्रेस के प्रवक्ता नहीं हैं। भाजपा और आरएसएस हिन्दू राष्ट्र की बात करते हैं इसी के मद्देनजर उन्होंने अपनी बात कही है और इसमें माफी मांगने की कोई बात नहीं है। (वार्ता)


और भी पढ़ें :