मोदी वाराणसी को देंगे ढाई हजार करोड़ के 'उपहार', जानिए क्या हैं ये तोहफे...

पुनः संशोधित रविवार, 11 नवंबर 2018 (12:48 IST)
वाराणसी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी दीपावली एवं छठ पर्व के 'उपहार' के तौर पर करीब ढाई हजार करोड़ रुपए की विभिन्न विकास परियोजनाओं के एवं शिलान्यास करने सोमवार को एकदिवसीय दौरे पर अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी आएंगे।

आधिकारिक सूत्रों ने रविवार को यहां बताया कि मोदी विशेष विमान से अपराह्न करीब 2.30 बजे बाबतपुर स्थित लालबहादुर शास्त्री अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पहुंचेंगे। इसके बाद वे वायुसेना के हेलीकॉप्टर से सीधे रामनगर के राल्हूपुरा गांव स्थित गंगा तट पर पहुंचेंगे, जहां कोलकाता के हल्दिया से जलमार्ग से आए पहले शिपिंग कार्गो के प्रथम कंटेनर उतारने के कार्य के साथ ही देश के प्रथम मल्टी मॉडल टर्मिनल (बंदरगाह) का लोकार्पण करेंगे।
उन्होंने बताया कि जल परिवहन सुविधा का लोकार्पण के बाद प्रधानमंत्री हरहुआ (बाबतपुर के पास) क्षेत्र के वाजिदपुर में आयोजित समारोह में बाबतपुर-वाराणसी 4 लेन एवं 'रिंग रोड' मार्ग समेत कई महत्वाकांक्षी परियोजनाएं राष्ट्र को समर्पित करेंगे तथा एक विशाल जनसभा को संबोधित करने के बाद शाम करीब 5 बजे लालबहादुर शास्त्री अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से दिल्ली के लिए रवाना हो जाएंगे।
जिला अधिकारी सुरेंद्र कुमार ने बताया कि प्रधानमंत्री के दौरे से संबंधित तमाम तैयारियां लगभग पूरी कर ली गई हैं। कार्यक्रम स्थलों एवं उनके यात्रा मार्गों को भव्य तरीके से सजाया गया तथा सुरक्षा के चाक-चौबंद इंतजाम किए गए हैं। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आनंद कुलकर्णी ने बताया कि प्रधानमंत्री के एकदिवसीय दौरे के मद्देनजर करीब 10 हजार पुलिसकर्मी सुरक्षा निगरानी करेंगे। यातायात व्यवस्था में आवश्यक बदलाव किए गए तथा यातायात पुलिसकर्मियों को जगह-जगह तैनात किया गया है।
भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के काशी क्षेत्र मीडिया प्रभारी नवरत्न राठी ने बताया कि प्रधानमंत्री के इस दौरे को लेकर कार्यकर्ताओं में भारी उत्साह है। सभास्थल पर 80 हजार लोगों के बैठने की व्यवस्था की गई है तथा 1 लाख से अधिक लोगों के आने की संभावना है। इसके लिए तमाम आवश्यक तैयारियां पूरी कर ली गई हैं।

आधिकारिक सूत्रों के अनुसार लोकार्पण होने वाली परियोजनाओं में 11,118.02 लाख रुपए से तैयार वाराणसी-बाबतपुर-4, वाराणसी से हल्दिया तक जल मार्ग से माल ढुलाई के लिए रामनगर में 20,800.00 लाख की लागत से नवनिर्मित देश के पहले आईडब्ल्यूटी मल्टीमॉडल टर्मिनल के मार्ग, 235.53 करोड़ रुपए की लागत से बना दीनापुर का 140 एमएलडी सीवेज ट्रीटमेंट प्‍लांट (एसटीपी), 34.01 करोड़ रुपए की लागत से बना चौकाघाट (140 एमएलडी), फुलवरिया (7.6 एमएलडी) और स‍रइया (3.7 एमएलडी) का 3 सीवेज पम्पिंग स्‍टेशन, 155.87 करोड़ रुपए की लागत से वरुणा और अस्‍सी के पास बना 28 किलोमीटर लंबा ट्रंक सीवर और इंटरसेप्‍टर सीवर शामिल है।
एसटीपी परियोजनाओं के शुरू होने पर वाराणसी की सीवेज शोधन क्षमता मौजूदा 102 एमएलडी से बढ़कर 242 एमएलडी हो जाएगी। इन परियोजनाओं से गंगा में छोड़े जाने से पहले 140 एमएलडी सीवेज का शोधन होगा जिससे गंगा नदी में प्रदूषण करने में मदद मिलेगी। मोदी रामनगर के लिए 72.91 करोड़ रुपए की एक अन्य सीवर प्रबंधन परियोजना समेत कई परियोजनाओं की आधारशिला रखेंगे। (वार्ता)


और भी पढ़ें :