नरेन्द्र मोदी ने गिनाए 75 दिन के 5 बड़े काम

वेबदुनिया न्यूज डेस्क| Last Updated: गुरुवार, 15 अगस्त 2019 (10:29 IST)
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के अवसर लाल किले से अपने दूसरे कार्यकाल के 75 दिनों के 5 बड़े काम गिनाए। उन्होंने कहा कि जो काम विगत 70 सालों में नहीं हो पाए, वे हमारी सरकार ने कर दिखाए। निश्चित ही इनसे देशवासियों के जीवन में सकारात्मक बदलाव आएगा।
एक देश, एक संविधान : नरेन्द्र मोदी ने कहा कि सरकार ने जम्मू-कश्मीर को विशेषाधिकार देने वाले अनुच्छेद 370 और 35ए को हटाकर 'एक देश, एक संविधान' का काम किया। उन्होंने कहा कि 370 हटने से जम्मू कश्मीर और लद्दाख के लोगों के जीवन में परिवर्तन आएगा। वहां विकास के नए द्वार ‍खुलेंगे। दलित और आदिवासी भाइयों पूरे देश की तरह अधिकार मिलेंगे। जो काम 70 साल में नहीं हो पाया हमने 70 दिन में कर दिखाया। 370 के कारण आतंकवाद और अलगाववाद को ही बल मिला था और परिवारवाद को पोषण मिला था। यह धारा 370 का ही दुष्परिणाम था कि भारत विभाजन के बाद लो लोग जम्मू कश्मीर में बसे, उन्हें अपने मानवीय अधिकार भी नहीं मिले, लेकिन अब ऐसा नहीं होगा।

3 तलाक : मोदी ने कहा कि 3 तलाक के कारण मुस्लिम बहनें और बेटियां भय और खौफ के माहौल में जीवन व्यतीत कर रही थीं। हमेशा उनके सिर पर 3 तलाक की तलवार लटकी हुई रहती थी। दुनिया के कई इस्लामिक देशों ने इस कुप्रथा को बहुत पहले ही खत्म कर दिया था, लेकिन हम मुस्लिम बहनों को उनका हक देने से हिचकिचाते थे। अगर हम बाल विवाह, सती प्रथा को खत्म कर सकते हैं दहेज प्रथा के खिलाफ आवाज उठा सकते हैं तो 3 तलाक भी खत्म कर सकते हैं। हमने 3 तलाक खत्म करने का महत्वपूर्ण फैसला लिया। दरअसल, राजीतिक तराजू में तौलकर निर्णय नहीं होते।

किसानों की मदद : हमने किसानों के हित में बड़ा फैसला लिया। इसके तहत किसानों को प्रधानमंत्री सम्मान निधि से 90 हजार करोड़ रुपए किसानों के खाते में ट्रांसफर करने का काम आगे बढ़ा है। किसानों और व्यापारियों के लिए हमने पेंशन योजना लागू की।

आतंकवाद : आतंकवाद के खिलाफ कानून को और मजबूत को बनाने के लिए एनआईए को और मजबूत किया गया। इससे संस्था को ज्यादा अधिकार मिलेंगे और आतंकवाद के खिलाफ कठोर कार्रवाई में आसानी होगी।

जल शक्ति का मंत्रालय : हर घर पानी पहुंचाने के लिए हमने जल शक्ति मंत्रालय का गठन किया है। इससे जिन घरों में पानी नहीं पहुंच रहा है, उनको फायदा होगा। इसके लिए 3.5 लाख करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे।


और भी पढ़ें :