मुकेश भारतीय धनकुबेरों में अव्वल, नीरव बाहर

पुनः संशोधित बुधवार, 7 मार्च 2018 (17:34 IST)
न्यूयॉर्क। 'फोर्ब्स' की धनकुबेरों की सूची में इस साल भारतीय अरबपतियों की संख्या बढ़कर 121 पर पहुंच गई है। इस सूची में रिलायंस इंडस्ट्रीज के मालिक मुकेश अंबानी भारत के सबसे अमीर व्यक्ति बने हुए हैं जबकि पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) घोटाले के मुख्य आरोपी ज्वेलरी डिजाइनर नीरव मोदी को इसमें जगह नहीं मिली।

इतना ही नहीं, विश्व के कुल धनकुबेरों के वर्ग में भारत दुनिया का ऐसा तीसरा देश बन गया है, जहां सबसे अधिक अरबपति हैं। अमेरिका पहले और चीन दूसरे स्थान पर है। पिछले साल 'फोर्ब्स' की सूची में भारत के 102 अरबपति थे। इस बार इसमें 19 अन्य भारतीयों को जगह मिली है। सूची में अमेरिका के 585 अरबपति और चीन के 373 अरबपति हैं।

'फोर्ब्स 2018' की सूची के अनुसार मुकेश अंबानी की बादशाहत बरकरार है। मुकेश अंबानी की संपत्ति वर्ष 2017 के मुकाबले 16.9 अरब डॉलर बढ़कर वर्ष 2018 में 40.1 अरब डॉलर हो गई। मुकेश अंबानी विश्व के 2,208 धनकुबेरों की सूची में इस साल जोरदार छलांग लगाकर 13 पायदान ऊपर आ गए हैं।

वर्ष 2017 में वे 23.2 अरब डॉलर की कुल संपत्ति के साथ 33वें स्थान पर थे और अब वे 19वें नंबर पर आ गए हैं। 'फोर्ब्स' की सूची में अमीर भारतीयों में स्टील सम्राट लक्ष्मी मित्तल अपने दूसरे स्थान से फिसल गए हैं। विप्रो के अजीम प्रेमजी ने उन्हें पछाड़ते हुए दूसरा स्थान हासिल किया है।

यही नहीं, प्रेमजी ने विश्व सूची में भी लंबी छलांग लगाई है। उनकी कुल संपत्ति 18.8 अरब डॉलर है और वे 2017 के 72 से 58वें नंबर पर आ गए हैं। संपत्ति के मामले में प्रेमजी के मुकाबले लक्ष्मी मित्तल बहुत अधिक पीछे नहीं हैं। उनकी संपत्ति 2018 में बढ़कर 18.5 अरब डॉलर हो गई। इसके बावजूद वे विश्व सूची में 6 पायदान फिसलकर 56 से 62वें नंबर पर आ गए।

भारत की महिला उद्यमियों में जिंदल स्टील एंड पॉवर की सावित्री जिंदल भारत की सबसे अमीर महिला हैं और विश्व सूची में 176वें स्थान पर हैं। सावित्री जिंदल की कुल संपत्ति 8.8 अरब डॉलर है। पेटीएम संस्थापक विजय शेखर शर्मा ने भी 'फोर्ब्स' की विश्व सूची में सबसे कम उम्र के धनकुबेर होने का श्रेय हासिल किया है।

एचसीएल के संस्थापक शिव नादर चौथे सबसे अमीर भारतीय हैं। हालांकि विश्व सूची में वे 14.6 अरब डॉलर के साथ 98वें नंबर पर हैं। सन फार्मा के दिलीप सांघवी 5वें सबसे अमीर भारतीय हैं। उनकी संपत्ति 12.8 अरब डॉलर है। वे विश्व सूची में 115वें नंबर पर हैं।

सबसे निचली रैंक के अरबपति भारतीयों में रामदीव अग्रवाल, तरंग जैन, निर्मल मिंड और रवीन्द्र किशोर सिन्हा 1-1 अरब डॉलर की संपत्ति के साथ विश्व सूची में 2,124वें स्थान पर हैं। भारत के बैंकिंग क्षेत्र में तहलका मचाने वाले पीएनबी घोटाले के मुख्य आरोपी नीरव मोदी को इस सूची में कोई जगह नहीं मिली। वह गत साल 1.8 अरब डॉलर की संपत्ति के साथ सूची में शामिल था।

विश्व के धनकुबेरों की 32वीं वार्षिक सूची में अमेजन के मुख्य कार्यकारी अधिकारी जेफ बेजोस की संपत्ति में 2018 में सबसे अधिक बढ़ोतरी हुई और उन्होंने माइक्रोसॉफ्ट के बिल गेट्स से पहला स्थान छीन लिया। बेजोस की संपत्ति में साल के दौरान सबसे अधिक बढ़ोतरी हुई और वे 112 अरब डॉलर के मालिक बन गए हैं। बिल गेट्स की संपत्ति 90 अरब डॉलर ही रह गई है।

पिछले 24 वर्ष के दौरान 18 सालों में बिल गेट्स दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति बने रहे थे। ऑरेकल के वॉरेन बफेट 84 अरब डॉलर के साथ तीसरे स्थान पर हैं। इस वर्ष 'फोर्ब्स' की अरबपतियों की सूची में कुल 2,208 धनकुबेर हैं। इनकी कुल संपत्ति 90.1 ट्रिलियन डॉलर के बराबर है। (वार्ता)


और भी पढ़ें :