इंदिरा इस तरह बनीं गांधी, पढ़ें पूरी कहानी...

Last Updated: गुरुवार, 25 जून 2015 (11:33 IST)
भारत की पहली महिला प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के बारे में वैसे तो आपने कई वाकए सुने होंगे, इंदिरा से जुड़े हुए महत्वपूर्ण वाकयों में 1975 की इमरजेंसी और ऑपरेशन ब्लूस्टार शामिल हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि वे इंदिरा नेहरू से इंदिरा गांधी कैसे बन गईं?
वैसे ये वाकया स्वतंत्रता प्राप्ति के पहले का है, जो उनके पति के संघर्ष के दिनों से शुरू होता है। इंदिरा गांधी के पति थे फिरोज जहांगीर घांदी जो बाद में फिरोज गांधी बन गए और बाद में उन्हें इंदिरा से प्यार हुआ और दोनों पति पत्नी बन गए। लेकिन ये कैसे हुआ, कब हुआ? इसके बारे में हम आपको बताने जा रहे हैं। 
 
फिरोज गांधी का जन्म बंबई के एक पारसी परिवार में हुआ था। बचपन उन्होंने बबंई और इलाहाबाद में गुजारा। जब वे महज 18 साल के हुए भारत के स्वतंत्रता आंदोलन ने उन्हें अपनी ओर आकर्षित किया और वे बन गए स्वतंत्रता सेनानी।
 
इसी दौरान उनकी मुलाकात इंदिरा और उनकी मां कमला नेहरू से हुई। आंदोलन के दिन धूप बहुत थी और इसके कारण कमला नेहरू बेहोश होकर गिर पड़ी, फिरोज उन्हें एक जगह ले गए और वहां उनको होश में लाए।
 
इस वाकए के अगले ही दिन फिरोज ने अपनी पढ़ाई छोड़ दी और पूरे तरह से स्वतंत्रता आंदोलन में लग गए। स्वतंत्रता आंदोलन में शामिल होने के साथ ही फिरोज ने अपना उप-नाम घांदी से गांधी कर लिया जो आज तक उनके परिवार वाले इस्तेमाल कर रहे हैं। इस दौरान वे कई बार लाल बहादुर शास्त्री के साथ जेल भी गए।   
अगले पेज पर इंदिरा-फिरोज की प्रेम कहानी...


और भी पढ़ें :