मौसम विभाग पर लगा 'झूठी भविष्यवाणी' का आरोप, किसानों ने दर्ज कराई एफआईआर

पुनः संशोधित गुरुवार, 9 अगस्त 2018 (10:14 IST)
मराठवाड़ा क्षेत्र के एक गांव के किसानों ने भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है। किसानों का आरोप है कि मौसम विभाग ने बीज और कीटनाशक निर्माता कंपनियों के साथ तालमेल कायम किया हुआ है और मानसून की भविष्यवाणी के आंकड़ों के साथ छेड़छाड़ कर रहा है।

शिकायत में कहा गया है कि पुणे और मुंबई में विभाग के अधिकारियों ने विनिर्माता कंपनियों के साथ गठजोड़ कर किसानों को लाखों रुपए का नुकसान पहुंचाया है, क्योंकि इन भविष्यवाणियों के आधार पर ही अपनी बुवाई करते हैं।

किसानों का आरोप है कि मौसम विभाग झूठी भविष्यवाणी करता है इससे हमें लाखों रुपयों का नुकसान हो रहा है। परभनी ग्रामीण पुलिस स्टेशन में बुधवार दी गई इस शिकायत में कहा गया है कि पुणे और मुंबई में विभाग के अधिकारियों ने कंपनियों के साथ गठजोड़ कर किसानों को लाखों रुपए का नुकसान पहुंचाया है, क्योंकि किसान इन भविष्यवाणियों के आधार पर ही अपनी बुवाई करते हैं।

यह शिकायत लोकसभा सदस्य राजू शेट्टी की अगुवाई में स्वाभिमानी शेतकारी संगठन के मराठवाड़ा क्षेत्र के अध्यक्ष मनक कदम के द्वारा दर्ज कराई गई। कदम ने कहा कि आईएमडी निदेशक के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 420 के तहत धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया जाना चाहिए।

पिछले साल जून में बीड जिले के एक किसान ने भी आईएमडी अधिकारियों के खिलाफ इसी तरह के मामले की शिकायत की थी। उन्होंने कहा कि आईएमडी के अधिकारियों ने किसानों को गुमराह करते हुए कहा कि खरीफ सत्र के दौरान वहां पर्याप्त बारिश होगी।

इस घटनाक्रम पर टिप्पणी करने के लिए कोई आईएमडी अधिकारी उपलब्ध नहीं था। पिछले साल सितंबर में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने बरसात होने की झूठी भविष्यवाणी करने के लिए आईएमडी के खिलाफ केंद्रीय पर्यावरण मंत्री को एक पत्र लिखा था। (भाषा)

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :