गुरुग्राम गोलीकांड : सुरक्षा में लगे कांस्टेबल ने सरेराह की जज की पत्नी व बेटे की हत्या, लात-घूंसे भी बरसाए

पुनः संशोधित रविवार, 14 अक्टूबर 2018 (12:18 IST)
गुरुग्राम में शनिवार शाम को भयावह मंजर देखकर लोगों की सांसें रुक गईं। आर्केडिया मार्केट में बीच सड़क पर अचानक ही गोलियां चलने लगीं जिससे वहां डर का माहौल बन गया। लोग चीखते-चिल्लाते इधर-उधर भागते नजर आए। कुछ लोग पुलिस बुलाते दिखे, लेकिन गोली चलाने शख्स को इससे कोई फर्क नहीं पड़ रहा था। 38 साल के ने की पत्नी और बेटे पर गोली चलाई थी। वह जज की सुरक्षा में लगा था।
खबरों के दौरान जज की पत्नी की इलाज के दौरान मौत हो गई। महिपाल की तैनाती जज और उनके परिवार की सिक्योरिटी में की गई थी। जज की पत्नी ऋ‍तु और 17 साल के बेटे ध्रुव को महिपाल ने अपनी सर्विस रिवॉल्वर से बेहद नजदीक से सैकड़ों लोगों की मौजूदगी में गोली मारी। आरोपी हमलावर महिपाल ने 2 फायर किए, जो ऋ‍तु के सीने और पेट में लगे जबकि ध्रुव को उसने 3 गोलियां मारीं- 1 कंधे में और 2 सिर पर।

आरोपी ने न सिर्फ जज कृष्णकांत की पत्नी और बेटे पर गोली चलाई बल्कि उसने दोनों पर लात-घूंसे भी बरसाए। गोली चलाने के बाद वह चिल्ला रहा था- यह शैतान की मां। आसपास के लगे सीसीटीवी फुटेज में वह जज के नाबालिग बेटे को बड़ी ही निर्दयता से सड़क पर घसीटते हुए नजर आ रहा है। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक जज कृष्णकांत की पत्नी ऋतु पर गोली चलाते ही वे जमीन पर गिर पड़ीं और उसके बाद महिपाल ने उस पर जमकर लातें बरसाईं। जज के बेटे ध्रुव ने उसे रोकने की कोशिश की तो महिपाल ने उस पर भी बंदूक तान दी और 3 गोलियां चला दीं।

अंग्रेजी अखबार में छपी एक खबर के मुताबिक महिपाल ने पास ही मौजूद पुलिस के दल पर भी गोली चलाई लेकिन उसका निशाना चूक गया। पुलिस के मुताबिक आरोपी बार-बार कह रहा था कि उस पर भूत सवार था, वहीं पुलिस कमिश्नर केके राव ने इस बारे में कहा कि आरोपी मानसिक रूप से स्थिर नहीं लग रहा है।

छुट्टी नहीं मिलने से था परेशान : पुलिस के अनुसार महिपाल ने स्वीकार किया है कि वह काफी परेशान था और दिनभर परिवार के इशारे पर इधर-उधर भागना उसे पसंद नहीं था। उसने कहा कि उसे लगता है कि घटना के वक्त उस पर बुरे साये का असर था। वह कुछ दिनों से छुट्टी की मांग भी कर रहा था लेकिन उसे छुट्टी नहीं मिल रही थी। इस कारण से भी वह बहुत परेशान था, वहीं जज भी उसे बहुत डांटते थे और अपने घर का बहुत सारा काम करवाते थे।
घटना के बाद जज को किया फोन : पुलिस के अनुसार महिपाल ने इस भयावह घटना को अंजाम देने के बाद जज कृष्णकांत को फोन लगाकर कहा कि मैंने तुम्हारी पत्नी और बेटे को मार डाला है, जाओ और उन्हें देखो।


और भी पढ़ें :