भाजपा अध्यक्ष के बेटे की बढ़ती संपत्ति पर सवाल, क्या बोली भाजपा

नई दिल्ली| Last Updated: रविवार, 8 अक्टूबर 2017 (21:02 IST)

नई दिल्ली। भाजपा ने पार्टी अध्यक्ष के पुत्र जय अमित भाई शाह के खिलाफ और एक वेबसाइट पर प्रकाशित लेख में लगाए गए आरोपों को बेबुनियाद और शरारतपूर्ण करार देते हुए कहा है कि ऐसा शाह और उनके पुत्र की छवि को धूमिल करने के इरादे से किया गया है। ऐसा करने वालों के खिलाफ 100 करोड़ रुपए का मानहानि का मुकदमा किया जाएगा।
केन्द्रीय मंत्री ने आज यहां एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि सिब्बल ने एक वेबसाइट पर प्रकाशित लेख का हवाला देते हुए जय शाह के व्यवसाय को लेकर उन पर जो आरोप लगाए हैं, उसके बारे में सारा स्पष्टीकरण पहले ही दिया जा चुका है। लेख के जरिए जय और पार्टी अध्यक्ष की छवि धूमिल करने की कोशिश की गई है। लेख दुर्भावना से लिखा गया है। लेख लिखने वाले संपादक तथा वेबसाइट के मालिक दोनों पर अहमदाबाद की अदालत में 100 करोड़ रुपए के आपराधिक मानहानि का मुकदमा दर्ज किया जाएगा।
उन्होंने कहा कि जय शाह की कंपनी नियम-कायदों के अनुसार कारोबार कर रही है। उसके सारे बहीखाते साफ है किसी में कोई गड़बड़ी नहीं है। यह कहा जाना कि उनकी कंपनी को बिना गांरटी के ऋण दिया गया, पूरी तरह झूठा और बेबुनियाद आरोप है। कपंनी ने लेटर ऑफ क्रेडिट के जरिए व्यावसायिक ऋण लिया था, जिसे तय समय पर पूरे ब्याज सहित चुका दिया गया।

गोयल ने कहा कि इस मामले में मेरा नाम भी घसीटा गया है जबकि मैं ऐसे मामलों से कोसों दूर रहता हूं। कपंनी ने ऋण लिया था या नहीं, इसकी जानकारी भी मुझे शुक्रवार को मिली इसके पहले तो मैं कुछ भी नहीं जानता था।

इससे पहले सिब्बल ने आज यहां एक संवाददाता सम्मेलन में आरोप लगाया था कि
कि केंद्र में मई 2014 में
सरकार बदलने के बाद कुछ लोगों की किस्मत बदल गई। कंपनी पंजीयक के दस्तावेजों से खुलासा हुआ है कि शाह के पुत्र की कंपनी को 2014 के बाद से ही मुनाफा होना शुरू हुआ। (वार्ता)

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :