इंटरनेट के खिलौनों के जरिए जासूसी

# माय हैशटैग
 
ने अमेरिका के अभिभावकों को चेतावनी दी है कि वे अपने बच्चों को ऐसे खिलौने न दें, जो इंटरनेट से जुड़े हों। एफबीआई का दावा है कि ऐसे खिलौनों के माध्यम से जासूसी की जा रही है इसलिए सावधान रहें। अमेरिका में बच्चों के लिए ऐसे खिलौने बड़ी मात्रा में बिक रहे हैं, जो इंटरनेट से जुड़े होते हैं। ऐसे खिलौने बच्चों की प्राइवेसी और सुरक्षा के लिए खतरा हो सकते हैं। 
एफबीआई का कहना है कि इंटरनेट से जुड़े ये खिलौने की मदद कर सकते हैं। हैकर्स इन खिलौनों के माध्यम से बच्चे का नाम, तस्वीर, स्कूल, लोकेशन आदि की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं और उस जानकारी का उपयोग गलत धंधों में हो सकता है।
 
अमेरिका में ‘माय फ्रेंड कायला’ नामक इंटरनेट से जुड़ा खिलौना बहुत तेजी से लोकप्रिय हो रहा है। कायला की तरह ही नए आधुनिक खिलौने माइक्रोफोन, सेंसर, कैमरा, डाटा स्टोरेज, जीपीएस, ध्वनि पहचान आदि से जुड़े हुए हैं। एफबीआई कहती है कि ये वे फीचर्स हैं, जो किसी की भी प्राइवेसी को भंग कर सकते हैं। बच्चों की इस तरह की प्राइवेसी भंग होना उनकी सुरक्षा के लिए खतरा हो सकता है। 
 
अमेरिका में इंटरनेट आईडी चुराने वालों के खिलाफ कई संस्थाएं काम कर रही हैं। ऐसी ही एक संस्था आईडी थेप्ट सिक्युरिटी.कॉम के सीईओ रॉबर्ट सिसिलियानो का कहना है कि अगर एफबीआई ने इस तरह की कोई चेतावनी दी है, तो उसके गंभीर अर्थ होते हैं। आमतौर पर लोग यहीं मानते है कि मोबाइल, पीसी, टैबलेट आदि से ही प्राइवेसी को खतरा है। इंटरनेट से जुड़े खिलौनों को इस तरह के खतरों में शामिल नहीं माना जाता था। 
 
काइला नामक खिलौने की गतिविधियों पर निगाह रखते हुए इस साल के शुरू में जर्मनी ने अपने देश में इस खिलौने की बिक्री पर रोक लगा दी थी। एफबीआई ने साफतौर पर किसी एक खिलौने का नाम नहीं लिया है, लेकिन अभिभावकों को चेतावनी दी है कि वे इंटरनेट से जुड़े बच्चों के खिलौनों के प्रति सतर्क रहें। 
 
एफबीआई इस मामले की पड़ताल कर रही है कि बच्चों के खिलौने से प्राप्त सूचनाएं कौन व्यक्ति इकट्ठा कर रहा है और उसे कहां सेव किया जा रहा है। उस जानकारी को व्यावसायिक रूप से कहीं बेचा तो नहीं जा रहा है? एफबीआई की सलाह है कि अगर ऐसे खिलौने बहुत जरूरी हों और बच्चों की शिक्षा में काम आते हो, तब भी जरूरी है कि मां-बाप अपनी उपस्थिति में ही अपने बच्चों को ऐसे खिलौने के साथ खेलने दें और उन पर निगाह रखें। बच्चे से बढ़कर यह परिवार की सुरक्षा का मुद्दा बन चुका है। यह भी सलाह दी गई है कि अगर बच्चे खिलौने से नहीं खेल रहे हों, तब उन्हें ऑफ करके अलमारी में बंद रखना बेहतर है। 
 
एफबीआई ने ऑनलाइन बैंकिंग करने वालों को भी चेतावनी दी है कि वे अपने कम्प्यूटर का पासवर्ड बदलने के साथ ही अपने वाईफाई का पासवर्ड भी बदलते रहें। बैंक अकाउंट हैक करके पैसा निकालने वाले धोखेबाज वाईफाई पासवर्ड की मदद से लोगों के कम्प्यूटर और मोबाइल तक पहुंच रहे हैं। 

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :