यूएस में अश्वेत और प्लस साइज एंकर निशाने पर

Author डॉ. प्रकाश हिन्दुस्तानी| पुनः संशोधित सोमवार, 6 नवंबर 2017 (12:17 IST)
# माय हैशटैग
भारत में न केवल फिल्म अभिनेत्रियों, बल्कि टीवी की के और फिगर की तरफ बड़ा ध्यान दिया जाता है। यह माना जाता है कि हृष्ट-पुष्ट महिला एंकर लोगों को पसंद नहीं आती हैं। राज्यसभा टीवी को छोड़कर किसी भी न्यूज़ चैनल पर स्वस्थ यूज़ एंकर दिखाई नहीं देती। पता नहीं क्यों, सभी न्यूज़ चैनल्स को एकदम दुबली-पतली, छरहरी काया की न्यूज़ चैनलों की जरूरत होती है।

यह हालत भारत के ही नहीं, पूरी दुनिया के हैं। हाल ही में एक घटना सामने आई है जिसने यूएस के लोगों की नफ़रत की भावना को स्पष्ट कर दिया है। अमेरिका के एबीसी डलास के चैनल 8 की एंकर डेमेट्रिया ओबिलोर के बारे में लोगों ने इसलिए अपमानजनक बातें लिखी कि वे अश्वेत हैं और उनका बॉडी साइज़ प्लस है, जिसे अमेरिका में भी अच्छा नहीं माना जाता। वहां भी लोगों को लगता है कि एंकर को दुबला-पतला और छरहरा होना ही चाहिए।

डेमेट्रिया ओबिलोर ने अपने पर लगे सभी आरोपों का जवाब दिया और इस बात पर खुशी जाहिर की कि वे जैसी है वैसी अच्छी हैं और खुश हैं और कहीं नहीं जाने वाली! जिन्हें उनसे शिकायत है वे अपने बारे में सोचें। उन्होंने पूरी दुनिया की युवतियों को इस बात के लिए चेताया कि स्वस्थ रहना जरूरी है। जैसा आप चाहें वैसा रहें। आवश्यक नहीं है कि दूसरे लोगों के हिसाब से आप जिंदगी जीने लगें। उन्होंने कहा कि मुझे खुद पर नाज़ है। अपने प्लस साइज़ से मुझे कोई कष्ट नहीं है।

डेमेट्रिया ओबिलोर पर जो आरोप लगाने वालों ने कहा कि कि वह न्यूज़ एंकर न केवल प्लस साइज की हैं, बल्कि उसका ड्रेस सेन्स भी अच्छा नहीं है। सोशल मीडिया में आरोप लगाने वाली एक श्वेत महिला थी, जिसका यह कहना था कि उसे इस बात से ज्यादा फर्क नहीं पड़ता कि वह न्यूज़ एंकर अश्वेत है या श्वेत! उन्हें इस बात से फर्क पड़ता है कि वह अपनी सेहत के हिसाब से कपड़ों का चयन नहीं करती, इसलिए फूहड़ लगती हैं। डेमेट्रिया ने इस पर एक वीडियो जारी करके कहा कि यह रंगभेद वाली घटना है और इसकी निंदा की जानी चाहिए। बाद में कई लोगों ने उस श्वेत महिला के खिलाफ सोशल मीडिया पर आवाज उठाई। यह कहा कि ब्लैक भी सुंदर होते हैं।

डेमेट्रिया ओबिलोर चैनल पर रोज सुबह साढ़े चार से सात बजे तक ट्रैफ़िक बीट के समाचार पेश करती हैं। यूएस में दफ्तर सुबह जल्दी खुलते हैं और यह भारी यातायात का समय होता है। वे
सोशल मीडिया पर काफी सक्रिय हैं और ट्विटर पर उनके करीब 56000 फ़ॉलोअर्स हैं। उनकी अपनी वेबसाइट भी है, जिसमें वह अपनी निजी जिंदगी की बातें भी शेयर करती हैं।

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :