जब एक फेसबुक पोस्ट ने जान बचा ली

#माय हैशटैग

बात सुनने में अजीब लगती है, लेकिन सच्ची है। जीन विलियम्स टेलर नामक महिला को अपने नाखून बढ़ाने का शौक था। उसने पाया कि उसके नाखून में एक अलग ही तरह का कर्व आ गया है। उसे लगा कि यह कर्व उसके हाथों की सुंदरता को बढ़ा रहा है और उसने नेल पॉलिश किए हुए अपने पर पोस्ट कर दी और नीचे लिखा कि क्या आपने किसी के इस तरह के नाखून देखे हैं। इस तस्वीर में उसके अंगूठे का नाखून थोड़ा सा मुड़ा हुआ था। उसके कई मित्रों ने तस्वीर की सराहना की। सिवाय एक के।
जीन के उस परिचित डॉक्टर ने फेसबुक पर देखी गई इस तस्वीर के नीचे कमेंट लिखा कि तुम्हारी तबीयत ठीक नहीं है और तुम्हें अपने शरीर की जांचें करा लेनी चाहिए। डॉक्टर का कहना है कि इस तरह नाखून मुड़ना सामान्य लक्षण नहीं है और यह किसी गंभीर बीमारी का संकेत है। जीन ने इनबॉक्स में जाकर डॉक्टर से चैट की और फिर अपने स्वास्थ्य परीक्षण के लिए तैयार हुईं।

मिरर अखबार के अनुसार, उसने अपने शरीर की तमाम तरह की जांचें करा लीं। सबसे पहले उसने ब्लड टेस्ट कराया, फिर अपनी छाती का एक्स-रे और दो दिन बाद पीईटी स्कैन और फिर कई तरह के ब्लड टेस्ट। डॉक्टरों ने उसका ब्रिदिंग टेस्ट भी लिया और एमआरआई स्कैन तथा फेफड़ों की बायप्सी भी की। लगातार दो हफ्ते जीन यह जांचें करवाती रहीं।

जांच की जो रिपोर्ट आई, उसके अनुसार जीन को फेफड़ों में की बीमारी का पता चला। अब उसका इलाज शुरू किया गया है। यह बीमारी इतनी गंभीर थी कि कैंसर से जीन के दोनों तरफ के फेफड़े प्रभावित हो रहे थे, जिसका असर उसके नाखूनों पर नजर आ रहा था।

एक स्थानीय अखबार ने जीन की खबर अपने अखबार में छाप दी। उसके बाद जीन की फ्रेंडलिस्ट में लोगों की संख्या बढ़ती गई और वे उसे आराम करने और जल्दी ठीक होने की सलाह देने लगे। करीब 35 हजार लोगों ने जीन की फेसबुक पोस्ट पर प्रतिक्रिया दी है। करीब डेढ़ लाख लोगों ने उसकी पोस्ट शेयर की और करीब 15 हजार लोगों ने जीन की पोस्ट पर अपने कमेंट्स लिखे।

अनेक लोगों ने फोटो देखकर बीमारी की आशंका बताने वाले डॉक्टर की तारीफ की और अपने शरीर में होने वाले बदलावों के प्रति जागरूक रहने की सलाह को आगे ब़ढ़ाया। डॉक्टरों ने जीन की बीमारी के बारे में कई कमेंट्स दिए हैं। जिसके अनुसार इस तरह नाखूनों की स्थिति बदलने का कारण ह्दय की बीमारी, लिवर या फेफड़े में इंफेक्शन अथवा अन्य बीमारियां हो सकती हैं।

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :