कैलाश विजयवर्गीय और बाबूलाल गौर के सामने बीजेपी का सरेंडर

भोपाल| विशेष प्रतिनिधि| पुनः संशोधित गुरुवार, 8 नवंबर 2018 (18:11 IST)
भोपाल। मध्यप्रदेश में भाजपा की तीसरी लिस्ट आने से पहले भाजपा में जिस तरह उठापटक मची थी। उसके बाद पार्टी ने एक तरह से दिग्गज नेताओं के सामने सरेंडर कर दिया है। भाजपा ने उम्मीदवारों की जो तीसरी लिस्ट जारी की है। उसमें भोपाल की गोविन्दपुरा सीट से की बहू कृष्णा गौर को टिकट दिया गया। गोविंदपुरा सीट को लेकर भाजपा में पिछले काफी समय से घमासान चल रहा था।

इस सीट से मौजूदा विधायक बाबूलाल गौर ने एक तरह से पार्टी को चेतावनी देते हुए कहा था कि अगर उनको या बहू कृष्णा गौर में से किसी एक को टिकट नहीं दिया गया तो वे निर्दलीय चुनाव मैदान में उतरेंगे। इसके लिए पार्टी पर दबाव बनाते हुए नामांकन फॉर्म भी खरीद लिया था, वहीं दूसरी ओर इंदौर में भी विधानसभा सीटों को लेकर पार्टी ने दिग्गज नेता के सामने सरेंडर कर दिया है।

भाजपा की तीसरी लिस्ट में इंदौर से पार्टी ने बड़ा उलटफेर करते हुए महू विधानसभा सीट से को टिकट दिया है, वहीं उषा ठाकुर इंदौर तीन से वर्तमान में विधायक हैं, वहीं इंदौर तीन से भाजपा ने कैलाश विजयवर्गीय के बेटे आकाश विजयवर्गीय को उम्मीदवार बनाया है। पार्टी ने इंदौर 2 से एक बार फिर रमेश मेंदोला को उम्मीदवार बनाया है। पार्टी के इस फैसले के बाद सवाल उठने लगे हैं। खुद पार्टी उम्मीदवार उषा ठाकुर ने पार्टी के फैसले पर सवाल उठाए हैं।


और भी पढ़ें :