Widgets Magazine

दिग्विजय का बड़ा बयान, कांग्रेस जीती तो मध्यप्रदेश में बनेगा 'रामपथ'

भोपाल| पुनः संशोधित मंगलवार, 11 सितम्बर 2018 (22:00 IST)
भोपाल। के वरिष्ठ नेता एवं के पूर्व मुख्यमंत्री ने मंगलवार को कहा कि प्रदेश में सत्ता में आने पर कांग्रेस 'रामपथ' और 'नर्मदा परिक्रमा पथ' का निर्माण कराएगी।
सिंह ने प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में पत्रकार वार्ता में कहा कि भाजपा ने बनाने का वादा किया था, वह नहीं बना पाई। लेकिन हम लोग इसे बनाएंगे। ऐसा हम लोग सोच रहे हैं।

उन्होंने कहा कि नर्मदा परिक्रमा के वक्त उन्होंने महसूस किया कि नर्मदा की परिक्रमा के लिए पथ बनाया जाना चाहिये, ताकि लोगों को सुविधा हो।
यह पूछे जाने पर कि क्या कांग्रेस भी भाजपा की धार्मिक राह पर चल पड़ी है, उन्होंने कहा कि भाजपा की राह धार्मिक नहीं है। निर्मोही अखाड़े के महंत के मुताबिक 1400 करोड़ रुपए विश्व हिन्दू परिषद वाले खा गए।

उन्होंने कहा कि वे लोग धार्मिक लोग नहीं हैं। गौ माता की हालत गांव-गांव में क्या हो गई है, आप देख लिजिए। किसान रात-रात भर पहरा दे रहे हैं कि कहीं आवारा पशु उनके खेत न चर जाएं।
दिग्विजय ने एक अन्य सवाल के जवाब में कहा, 'राजनीति में प्रतियोगी तरीके से प्रतिद्वंद्विता हो सकती है, लेकिन कटुता नहीं। यहां तक कि राजनीतिक जीवन में मेरी भाजपा एवं संघ के साथ भी कटुता नहीं है, फिर कांग्रेस के लोगों के साथ कैसे हो सकती है।'

उन्होंने मध्यप्रदेश में विकास के मॉडल का उदाहरण देते हुए कहा, 'शिवपुरी जिले में कुनों नदी पर महज तीन माह पहले बना पुल पहली बारिश में ढह जाता है। ये सब ई-टेंडरिंग का कमाल है।'
उन्होंने कहा वह शिवराज सिंह पर व्यापमं घोटाला और अवैध रेत खनन में शामिल होने के आरोप लगा रहे हैं। उन्होंने कहा कि यदि मेरा आरोप सही नहीं है, तो मुझे अदालत में चुनौती दीजिए। कांग्रेस नेता ने कहा कि अपनी असफलताओं को छिपाने के लिये भाजपा सामाजिक तनाव के मुद्दे पैदा कर रही है। यही उसकी राजनीति है।

एक अन्य सवाल के उत्तर में उन्होंने कहा कि 500 साल तक मुगलों का राज रहा, 150 साल ईसाइयों का राज था, तब सनानत धर्म खत्म नहीं हुआ। जो लोग कहते हैं कि हमारा धर्म (सनातन) कमजोर हो गया, वे खुद कमजोर हैं। (भाषा)

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :