गुरु का सदा आदर करो

हर प्रकार से नादान थे तुम, गीली मिट्टी के समान थे तुम। आकार देकर तुम्हें घड़ा बना दिया, अपने पैरों पर खड़ा कर दिया। गुरु बिना ज्ञान कहां, उसके ज्ञान का आदि न अंत यहां। गुरु ने दी शिक्षा जहां,

Widgets Magazine

शुक्रिया, मेरे विद्यार्थी होने के लिए....

आप मेरे सुयोग्य सुशील विद्यार्थी हैं, मेरे शिक्षिका होने की सबसे अहम वजह। यदि प्रथम व्याख्‍यान में आपने धैर्य, अनुशासन और गरिमा का परिचय नहीं ...

महागुरु प्रकृति, 5 रूपों में देती है शिक्षा

मनुष्य के जन्म से भी पहले से उसकी गुरु है प्रकृति। वह अनगिनत आंखों, हाथों और मन से मनुष्य को कुछ न कुछ सिखाती चली आ रही है। वह गुरु होने के ...

शिक्षक दिवस : व्यक्तित्व, जो जीवन संवारता है

एक शिक्षक कभी भी साधारण नहीं हो सकता क्योंकि वह एकमात्र ऐसा इंसान है जो आपको साधारण से असाधारण बनाने की क्षमता रखता है। आपकी समझ और आपका ज्ञान ...

गुरु 'प्रोफेशनल',शिष्य भी 'प्रेक्टिकल'

शिक्षक दिवस पर सालाना अनुष्ठान की तरह हम गुरु-शिष्य संबंधों के प्रति आदरभाव व्यक्त करते हैं। लेकिन बदलते समय के साथ इस पावन रिश्ते में भी बदलाव ...

क्या पिटाई बच्चों को सुधारने का विकल्प है?

किसी भी सभ्य समाज की पहचान इससे है कि उसमें बच्चे कितना खुश रहते हैं और उन्हें आगे बढ़ने की कितनी आजादी है। यदि बच्चे स्कूल में ही खौफ का शिकार ...

शिक्षक शारीरिक दण्ड क्यों देते हैं?

हमारे शिक्षक शारीरिक दण्ड क्यों देते हैं, इस पर कभी विचार नहीं किया जाता। इसका प्रमुख कारण है हमारी स्कूल व्यवस्था और उनमें लागू पाठ्यक्रम। ...

डॉ. राधाकृष्णन के 10 अनमोल विचार

डॉ. राधाकृष्णन का कहना था कि यदि शिक्षा सही प्रकार से दी जाए तो समाज से अनेक बुराइयों को मिटाया जा सकता है। शिक्षक दिवस के मौके पर आइए जानते हैं ...

शि‍क्षक दि‍वस पर सहस्र नमन...

है आज बहुत हर्षि‍त मन मेरा, शि‍क्षक दि‍वस है पर्व सुनहरा। इस पुलकि‍त पावन अवसर पर, वंदन करता है मन मेरा।।

डॉ. राधाकृष्णन : एक आदर्श शिक्षक

डॉ. राधाकृष्णन बहुमुखी प्रतिभा के धनी थे। यद्यपि वे एक जाने-माने विद्वान, शिक्षक, वक्ता, प्रशासक, राजनयिक, देशभक्त और शिक्षा शास्त्री थे, तथापि ...

बाल जीवन संवारता शिक्षक...

शिक्षक दिवस गुरुओं के सम्मान का दिन भारत में पांच सितम्बर को शिक्षक दिवस के रूप में मनाया जाता है। पढ़ें टीचर्स डे पर महत्वपूर्ण जानकारी शिक्षक ...

अपने प्रिय शिक्षक को संदेश भेजें...

शिक्षक यानी एक विश्वसनीय हाथ जो हमें अवसाद में डूबने से बचा ले, शिक्षक यानी जिनका एक शब्द निराशा के पलों में आशा का दीप बन जाए। एक ऐसा ...

शिक्षक दिवस : रोचक जानकारियां

शिक्षक दिवस गुरुओं के सम्मान का दिन भारत में पांच सितंबर को शिक्षक दिवस के रूप में मनाया जाता है। पढ़े टीचर्स डे पर महत्वपूर्ण जानकारी शिक्षक ...

एक शिक्षक की कहानी, उसी की जुबानी

एक शिक्षक का जीवन बच्चों के साथ कैसे बीतता है! वह भी कभी बच्चा बनकर उन्हें समझने की कोशिश करता है तो कभी बुजुर्ग दार्शनिक की तरह उनके प्रश्नों ...

शिक्षक, शिक्षा और शिक्षार्थी

किसी भी राष्ट्र का आर्थिक, सामाजिक, सांस्कृतिक विकास उस देश की शिक्षा पर निर्भर करता है। शिक्षा के अनेक आयाम हैं, जो राष्ट्रीय विकास में शिक्षा ...

शिक्षक दिवस विशेष : तस्मैः श्री गुरुवेः नमः

शिक्षक दिवस गुरुओं के सम्मान का दिन भारत में पांच सितंबर को शिक्षक दिवस के रूप में मनाया जाता है। पढ़े टीचर्स डे पर महत्वपूर्ण जानकारी शिक्षक ...

अपने प्रिय शिक्षक को संदेश भेजिए

‍शिक्षक दिवस के अवसर पर हमें बताएं कि आपके प्रिय शिक्षक कौन हैं और क्यों वे आपको सबसे अधिक प्रिय हैं? अपने शिक्षक के नाम संदेश भेजिए या बताएं कि ...

कब और कैसे हुई शिक्षक दिवस की शुरुआत

शिक्षक दिवस गुरुओं के सम्मान का दिन भारत में पांच सितंबर को शिक्षक दिवस के रूप में मनाया जाता है। पढ़े टीचर्स डे पर महत्वपूर्ण जानकारी शिक्षक ...

शिक्षक दिवस विशेष : कैसे थे डॉ. राधाकृष्णन

डॉ. राधाकृष्णन अपनी बुद्धिमतापूर्ण व्याख्याओं, आनंददायी अभिव्यक्ति और हंसाने, गुदगुदाने वाली कहानियों से अपने छात्रों को मंत्रमुग्ध कर दिया करते ...

Widgets Magazine

Widgets Magazine

नवीनतम

जानिए छोटी तुलसी के बड़े-बड़े लाभ

सामान्यत: हर घर के आंगन में पूजा जाने वाला तुलसी का पौधा, आपके वातावरण और स्वास्थ्य दोनों को ...

जानिए, 5 उपाय जो बारिश की परेशानियों से बचाएं

बारिश यानि बरसात का मौसम, बेहद सुहाना और लुभावना होता है। इस मौसम में ही आउटिंग और खाने-पीने का ...

जरुर पढ़ें

वज्रासन से शरीर बनेगा सुडौल, देखें वीडियो

वज्र का अर्थ होता है कठोर और दूसरा यह कि इंद्र के एक शस्त्र का नाम वज्र था। इससे पैरों की जांघें ...

जब ऑडियो कैसेट में धड़कते थे दिल...

इंटरनेट के दौर में कई पुरानी तकनीक बाज़ार से बाहर हो गई, उनके स्थान पर नई तकनीक तो आ गई लेकिन कुछ ...

हिन्दी कविता : एक सवाल?

सांस लेना, प्रार्थना करना। बोलना, खाना-पीना। उठना-बैठना, हंसना-रोना, नाचना-गाना

Widgets Magazine