14 जनवरी को मकर संक्रांति, पढ़ें व्रत की पौराणिक विधि

हिन्दू धर्म के अनुसार सूर्य का मकर राशि में प्रवेश करना मकर-संक्रांति कहलाता है। मकर-संक्रांति के दिन सूर्य उत्तरायण हो जाते हैं। इस दिन व्रत और दान (विशेषकर तिल के दान का) का काफी महत्व होता है। सूर्य ज्ञान, आध्यात्म और प्रकाश का प्रतीक है।

प्रति वर्ष की तरह वर्ष 2018 में मकर संक्राति का त्योहार 14 जनवरी को मनाया जा रहा है।

यह सूर्य भगवान का त्योहार है इस दिन पर सूर्य दक्षिण की यात्रा समाप्त करते हैं और उत्तर दिशा की तरफ बढ़ते हैं।

मकर संक्रांति व्रत विधि

भविष्यपुराण के अनुसार सूर्य के उत्तरायन या दक्षिणायन के दिन संक्रांति व्रत करना चाहिए। इस व्रत में संक्रांति के पहले दिन एक बार भोजन करना चाहिए। संक्रांति के दिन तेल तथा तिल मिश्रित जल से स्नान करना चाहिए। इसके बाद सूर्य देव की स्तुति करनी चाहिए।

इस दिन तीर्थों में या गंगा स्नान और दान करने से पुण्य प्राप्ति होती है। ऐसा करने से मोक्ष की प्राप्ति होती है। संक्रांति के पुण्य अवसर पर अपने पितरों का ध्यान और उन्हें तर्पण अवश्य प्रदान करना चाहिए।

संक्रांति पूजा समय

संक्रांति के दिन पुण्य काल में दान, स्नान व श्राद्ध करना शुभ माना जाता है। इस साल यह शुभ मुहूर्त 14 जनवरी, 2018 को दोपहर 2 बजे से लेकर शाम 05 बजकर 41 मिनट तक का है।

मकर संक्रांति पूजा मंत्र

मकर संक्रांति के दिन सूर्यदेव की निम्न मंत्रों से पूजा करनी चाहिए:

ॐ सूर्याय नम:
ॐ आदित्याय नम:
ॐ सप्तार्चिषे नम:

अन्य मंत्र हैं- ऋगमंडलाय नम:, ॐ सवित्रे नम:, ॐ वरुणाय नम:, ॐ सप्तसप्त्ये नम:, ॐ मार्तण्डाय नम:,ॐ विष्णवे नम:

: मकर संक्रांति के दिन इस विशेष सूर्य मंत्र का जाप किया जाना चाहिए : ॐ हरेम् हरेम् ह्रौमं साह सूर्य्याय नमः

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :

इन तीन लोगों के सिर धड़ से अलग हो गए थे लेकिन जोड़ दिए गए, ...

इन तीन लोगों के सिर धड़ से अलग हो गए थे लेकिन जोड़ दिए गए, जानिए प्राचीन रहस्य
प्राचीन भारत में चिकित्सा और सर्जरी के कई किस्से पुराणों में पढ़ने को मिलते हैं। हालांकि ...

जब दुर्योधन ने अपनी पत्नी को देखा कर्ण के साथ...

जब दुर्योधन ने अपनी पत्नी को देखा कर्ण के साथ...
दुर्योधन की पत्नी का नाम भानुमति था। भानुमति के कारण ही यह मुहावरा बना है- कहीं की ईंट ...

ज्योतिष के अनुसार सूर्य की खास विशेषताएं, जो आप नहीं जानते ...

ज्योतिष के अनुसार सूर्य की खास विशेषताएं, जो आप नहीं जानते होंगे...
ज्योतिष के अनुसार ग्रह की परिभाषा अलग है। भारतीय ज्योतिष और पौराणिक कथाओं में नौ ग्रह ...

सावधान... 28 जून से मंगल होगा वक्री, क्या होगी 12 राशियों ...

सावधान... 28 जून से मंगल होगा वक्री, क्या होगी 12 राशियों की स्थिति
मंगल जब उच्च का होकर वक्री होता है, तो जहां उच्च का फल देता आया है, अब वहां नीच का फल ...

नागमणि के पास होने से क्या होता है? देखें चमत्कारिक नागमणि ...

नागमणि के पास होने से क्या होता है? देखें चमत्कारिक नागमणि का वीडियो
नागमणि का रहस्य आज भी अनसुलझा हुआ है। आम जनता में यह बात प्रचलित है कि कई लोगों ने ऐसे ...

कर्ज से मुक्ति हेतु करें हनुमानजी के ये 4 उपाय

कर्ज से मुक्ति हेतु करें हनुमानजी के ये 4 उपाय
यदि किसी कारणवश आप कर्ज में डूब गए हैं या कर्ज से परेशान हैं तो हनुमान भक्ति से कर्ज से ...

हनुमानजी पर लिखे गए स्तुति, मंत्र और ग्रंथों की सूची

हनुमानजी पर लिखे गए स्तुति, मंत्र और ग्रंथों की सूची
रामभक्त हनुमानजी पर यूं तो हजारों ग्रंथ, गुटका आदि लिखें गए हैं, लेकिन उनकी स्तुति में ...

अचानक धन मिल जाए तो बात बन जाए.. अगर आप भी ऐसा सोचते हैं तो ...

अचानक धन मिल जाए तो बात बन जाए.. अगर आप भी ऐसा सोचते हैं तो यह 6 उपाय आजमाएं
परिश्रम से बड़ा कोई धन नहीं। लेकिन सांसारिक सुखों को हासिल करने के लिए जो धन चाहिए वह अगर ...

धूमावती जयंती 2018 : मनोवांछित फल पाना है तो ऐसे करें पूजन, ...

धूमावती जयंती 2018 : मनोवांछित फल पाना है तो ऐसे करें पूजन, पढ़ें ये विशेष मंत्र...
वर्ष 2018 में 20 जून, बुधवार को धूमावती जयंती है। इस विशेष अवसर पर ब्रह्म मुहूर्त में ...

घर से निकलने से पहले यह 3 काम करें और फिर देखिए दिन कैसे ...

घर से निकलने से पहले यह 3 काम करें और फिर देखिए दिन कैसे सुकून से गुजरता है
आइए जानें घर से निकलने से पहले ऐसा क्या करें कि पूरा दिन सफलतादायक और खुशनुमा बना रहे।

राशिफल