नया ज्ञानोदय

नवंबर 2008

WDWD
तरतीब

नोबेल पुरस्कार : ले. क्लेज़िओ

एडम स्मिथ : अमेरिका और यूरोप कर्ज़दार हैं। टेलिफोनिक बातचीत

बुकर पुरस्कार : अरविंद अडिगा

विजय शर्मा : व्हाइट टाइगर, काली दुनिया

दुर्लभ पृष्ठ
नागार्जुन : एक कविता

स्मरण : वेणुगोपाल
नरेंद्र मोहन : दु:स्वप्न को सपने में ढालने की क‍ोशिश

गुलज़ार : मेरा कुछ सामान...
गुलज़ार : पीपल, इमली, आम, अमलतास, खु़मानी अखरोट, सब्ज़ लम्हे
गुलज़ार : मैं कुछ कहता नहीं ख़ुद से
कन्हैयालाल नंदन : अहसास के गमलों में उगे हुए सपने

कहानी
निर्मल वर्मा : दूसरी दुनिया
कैलाश बनवासी : उनकी दुनिया
शर्मिला बोहरा जालान : ईमेल
राजेंद्र लहरिया : सवाल
आर.के.पालीवाल : ताक झाँक
श्रीप्रकाश मिश्र : प्रेत-पुतले

कला सौंदर्य
यशदेव शल्य : कला का सत्य

लोक
इंदुप्रकाश पांडेय : लोकवार्ता : प्रसंग और प्रयोजन

यात्रा
ममता कालिया : काजू, कैसिनो और फ़ैनी का प्रदेश : गोआ

शख्सियत
प्रयाग शुक्ल : याद आते हैं पक्षियों की दुनिया वाले सालिम अली

कविता
हरीशचंद्र पांडेय : किसान और आत्महत्या, भाई-बहन, गोधूलि
श्रीप्रकाश शुक्ल : पाथेय, रेत में कलाकार, रेत में सुबह, रेत में दोपहर, रेत में शाम, रेत में लखटकिया
एकांत श्रीवास्तव : नासपाती, अंगूर, अनार, तरबूज़, लीची
जितेंद्र श्रीवास्तव : एक घर था, जैसे दो हाथ, बहाव

कहानी जो याद आती है
विजयमोहन सिंह : 'दूसरी दुनिया' : एक मार्मिक मानवीय कहानी

WD|
  गुलज़ार : मेरा कुछ सामान... गुलज़ार : पीपल, इमली, आम, अमलतास, खु़मानी अखरोट, सब्ज़ लम्हे गुलज़ार : मैं कुछ कहता नहीं ख़ुद से कन्हैयालाल नंदन : अहसास के गमलों में उगे हुए सपने ...      
अतिथि भूमि
केशरीनाथ त्रिपाठी : तीन कविताएँ विश्वनाथ : नहीं देख पाया, चिंतन, महाभारत प्रसंग, चीरहरणपहली परंपरा की खोजभगवान सिंह : कच्चा चिट्‍ठाप्रत्यंचा ज्ञान चतुर्वेदी : कब तक यह फैंटेसी?ज़रूरी किताब राहुल सिंह : सार्त्र : असंभव विकल्पों की तलाश (विजयमोहन सिंह) पढ़ते‍-लिखते सुशील सिद्धार्थ : ये असंख्य लोग संपूर्ण उपन्यास संजय कुंदन : टूटने के बाद मार्फ़त नया ज्ञानोदयएस.आर.हरनोट : स्नोवा बार्नो : आवाज़ दे कहाँ है?संपादक : रवींद्र कालिया मूल्य : 25 रुपए प्रकाशक : भारतीय ज्ञानपीठ18, इंस्टीट्‍यूशनल एरिया, लोदी रोड, पोस्ट बॉक्स नं. 3113 नई दिल्ली - 110003 फोन - 2462 6467, 2465 4197

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :