'खान' सरनेम की वजह से मध्यप्रदेश के अफसर परेशान, टि्वटर पर बयां किया दर्द

विशेष प्रतिनिधि| Last Updated: शुक्रवार, 11 जनवरी 2019 (12:50 IST)
भोपाल। के चर्चित अफसर नि़याज अहमद फिर सुर्खियों में आ गए हैं। नियाज अहमद खान के सोशल मीडिया पर किए गए एक ट्वीट से हड़कंप मच गया है।
पीएचई विभाग में उप सचिव के पद पर पदस्थ नियाज अहमद खान ने ट्वीट पर लिखा है कि खान सरनेम उनके पीछे भूत की तरह पड़ा हुआ है और शायद इस के चलते सत्रह साल की सर्विस में उन्नीस बार उनका ट्रांसफर हो चुका है।

दरअसल ये पूरा विवाद उस वक्त खड़ा हुआ जब लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग की बैठक के दौरान प्रमुख सचिव विवेक अग्रवाल ने विभाग के उपसचिव नियाज अहमद खान को बैठक से बाहर निकाल दिया। इसके बाद नियाज अहमद खान ने पर एक के बाद एक कई ट्वीट कर अपनी पीड़ा जाहिर की।
नियाज अहमद खान ने लिखा कि खान सरनेम होने का खामियाजा उन्हें उठाना पड़ रहा है। पिछले सत्रह साल में दस जिलों में उन्नीस बार उनका ट्रांसफर हो चुका है। अधिकारी खान सरनेम की वजह से उनके साथ ऐसा व्यवहार करते हैं। इतना ही नहीं नियाज ने लिखा कि एक साल से उनको सरकारी मकान भी नहीं अलॉट हो पाया है।

ऐसा नहीं नियाज अहमद खान पहली बार चर्चा में रहे हैं। इससे पहले डॉन अबू सलेम पर उपान्यास लिखने और गुना में ओडीएफ घोटाले को लेकर उजागर करने को लेकर भी वो सुर्खियों में रह चुके हैं। बीजेपी सरकार में नियाज अहमद खान को सोशल मीडिया पर टिप्पणी करने के चलते मंत्रालय अटैच कर दिया गया था। नियाज अब तक पांच उपन्यास लिख चुके हैं, जिसके चलते वो काफी चर्चा में रहे हैं।


और भी पढ़ें :