मुख्‍यमंत्री पद की दावेदारी पर ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया बोले...

पुनः संशोधित गुरुवार, 20 अप्रैल 2017 (20:02 IST)
भोपाल। वरिष्ठ कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने गुरुवार को कहा कि मध्यप्रदेश में डेढ़ साल बाद होने वाले विधानसभा चुनाव को जीतने के लिए कांग्रेस को मुख्यमंत्री का विश्वसनीय चेहरा प्रोजेक्ट करना चाहिए।
सिंधिया खुद भी इसके लिए एक सशक्त दावेदार माने जाते हैं और उनका मानना है कि मुख्यमंत्री का चेहरा प्रोजेक्ट करना और मजबूत संगठन दोनों ही इस चुनाव में कांग्रेस को इच्छित परिणाम हासिल करने के लिए बहुत जरूरी हैं।

लोकसभा में कांग्रेस के मुख्य सचेतक सिंधिया ने बताया, मैंने यह पहले भी कहा था और मेरा मानना है कि वर्तमान राजनीतिक परिदृश्य में पार्टी को मध्यप्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव में मुख्यमंत्री का विश्वसनीय चेहरा प्रोजेक्ट करना चाहिए, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि केवल मुख्यमंत्री का चेहरा प्रोजेक्ट कर दो। हमें अपने संगठन को भी मजबूत करना है। हमें ऐसे व्यक्ति को मुख्यमंत्री का चेहरा बनाना चाहिए, जो नई ऊर्जा एवं जोश के साथ सभी को एकजुट करने में सक्षम हो।

एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश में भी कांग्रेस को हाल ही के चुनाव की तरह मुख्यमंत्री को चेहरा प्रोजेक्ट करना चाहिए। सिंधिया ने बताया कि कांग्रेस ने पंजाब में विधानसभा चुनाव से पहले कैप्टन अमरिंदर सिंह को मुख्यमंत्री का चेहरा प्रोजेक्ट किया था और इसी के कारण वहां पर कांग्रेस सत्ता में आई। मध्यप्रदेश में विधानसभा चुनाव अगले साल अक्टूबर-नवंबर में होने हैं।
अपने परंपरागत गढ़ चंबल क्षेत्र के अटेर विधानसभा उपचुनाव में हाल ही में कांग्रेस की एकजुटता के कारण पार्टी प्रत्याशी हेमंत कटारे को मिली जीत से प्रफुल्लित सिंधिया ने कहा, हमें राजनीति से ऊपर उठकर केवल उसी उम्मीदवार को कांग्रेस का टिकट देना चाहिए, जो जीतने में सक्षम हो।

उन्होंने कहा, हमें मन में यह नहीं सोचना चाहिए कि यह मेरा उम्मीदवार है या तेरा उम्मीदवार है। हमें आगे बढ़ने के लिए संपूर्ण कांग्रेस पार्टी को एक परिवार के रूप में समझना चाहिए। सिंधिया ने दावा किया कि मध्यप्रदेश की जनता भी भाजपा के शासन से खुश नहीं है और वह भी सत्ता में बदलाव चाहती है। (भाषा)

Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :