मध्यप्रदेश को जल पर्यटन के हब के रूप में विकसित किया जाएगा: चौहान

Shivraj Singh Chauhan
Last Updated: सोमवार, 16 अक्टूबर 2017 (12:48 IST)
हनुवंतिया। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि राज्य को के हब के रूप में विकसित किया जाएगा तथा नर्मदा नदी के बैकवाटर्स में और द्वीप बनाए जाएंगे जिन्हें एक साथ मध्य द्वीप बोला जाएगा।
चौहान ने ढाई महीने चलने वाले जल महोत्सव का कल शुभारंभ किया। महोत्सव का आयोजन राज्य के खंडवा जिले में इंदिरा सागर बांध के बैकवाटर्स में हनुवंतिया द्वीप में दो जनवरी तक किया जाएगा।

उन्होंने नौका दौड़ को भी हरी झंडी दिखाई।

चौहान ने कहा, ‘जब मैं मुख्यमंत्री बना तो शुरुआती ध्यान पानी, बिजली और सड़कों पर था। कृषि उत्पादकता बढ़ाना भी अन्य मुख्य क्षेत्र था।’ उन्होंने कहा, ‘लेकिन बाद में सिंगापुर के सेंटोसा की यात्रा के दौरान मध्यप्रदेश में भी ऐसा ही पर्यटक स्थल विकसित करने का विचार आया। इसके बाद इस उद्देश्य के लिए इंदिरा सागर बांध की पहचान की गई। हनुवंतिया द्वीप को विकसित करने में हमें आठ साल लगे।’

चौहान ने कहा कि अगले पांच सालों में पर्यटन के लिहाज से यह क्षेत्र देश में शीर्ष पर होगा।

मुख्यमंत्री ने कहा, ‘केरल में हाउसबोट गंदे पानी में चल रही हैं। फिर पर्यटक वहां काफी दिनों तक ठहरते हैं लेकिन में नर्मदा नदी का पानी स्वच्छ और शुद्ध है और वहां पर हाउसबोट में पर्यटक रहेंगे।’ हनुवंतिया के अलावा गांधी सागर बांध, बरगी बांध और राजधानी भोपाल में नहरों को जल पर्यटक स्थल के रूप में विकसित किया जाएगा।
राज्य सरकार आज से 25 अक्तूबर तक पर्यटक पर्व भी मना रही है। मुख्यमंत्री ने पर्यटन बोर्ड और राज्य पर्यटन विकास प्राधिकरण की इस वर्ष 10 राष्ट्रीय पर्यटक पुरस्कार जीतने के लिए प्रशंसा की।

उन्होंने कहा कि अद्वैत वेदांत के संस्थापक आदि शंकराचार्य की प्रतिमा स्थापित की जाएगी। इसके लिए विभिन्न दल 19 दिसंबर से 22 जनवरी के बीच राज्य के विभिन्न हिस्सों से धातु एकत्रित करेंगे।
इस मौके पर चौहान ने 21 श्रेणियों के तहत राज्य पर्यटन पुरस्कार दिए। एशिया के सबसे बड़े बांधों में से एक इंदिरा सागर बांध के बैकवाटर्स में 100 से ज्यादा द्वीप आते हैं।

तंबू में आग : राज्य सरकार के रंगारंग ‘जन महोत्सव’ के आज यहां शुभारंभ से पहले कार्यक्रम स्थल पर कल आग लग गई, हालांकि कोई घायल नहीं हुआ। अधिकारियों ने बताया कि कल रात करीब साढ़े नौ बजे आग लगी जिसकी चपेट में पांच से छह तंबू आ गए। वहां सामान रखा हुआ था। दमकल की तीन गाड़ियां घटनास्थल पर पहुंची।
मुख्यमंत्री ने इस मामले की जांच और कार्यक्रम स्थल पर दमकल की गाड़ियां तैनात करने के आदेश दिए हैं। मौके पर मौजूद पर्यटन मंत्री सुरेंद्र पाटवा ने कहा कि एक तंबू के एसी में शार्ट सर्किट आग लगने का कारण हो सकता है। (भाषा)

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :