मध्यप्रदेश में 'सौभाग्य' योजना, 45 लाख परिवारों को मिलेगी बिजली

पुनः संशोधित बुधवार, 27 दिसंबर 2017 (10:50 IST)
में बिजली से वंचित 45 लाख परिवार को विद्युत उपलब्ध कराने के
लिए 'प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना' ('सौभाग्य') राज्य में शुरू की गई है। सार्वजनिक क्षेत्र की रुरल इलेक्ट्रिफिकेशन कॉर्पोरेशन (आरईसी) ने यह कहा है।

आरईसी के बयान के अनुसार बिजली और नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्री आरके सिंह तथा मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने 22 दिसंबर को 'सौभाग्य' योजना की शुरुआत की। बयान के अनुसार राज्य में बिजली से वंचित कुल 45 लाख परिवार हैं। इन परिवारों को 'दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना' और 'सौभाग्य' योजना के दायरे में लाने का प्रस्ताव है।
इस योजना की शुरुआत के साथ रीवा जिले में 5,000 नए बिजली कनेक्शन जारी किए गए। 'सौभाग्य' योजना की शुरुआत पिछले साल सितंबर में की गई। कुल 16,320 करोड़ रुपए की लागत वाली इस योजना के तहत देश में बिजली से वंचित करीब 4 करोड़ परिवारों को विद्युत उपलब्ध कराना है। इसमें 12,320 करोड़ रुपए का बजटीय समर्थन शामिल है।

योजना के तहत सभी राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों में सभी घरों को बिजली 31 मार्च 2019 तक उपलब्ध कराने का लक्ष्य है। आरईसी योजना के लिए नोडल एजेंसी है। (भाषा)

Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :