जूलियट के 'बुत' के नाम प्रेम पीड़ितों के पत्र

WD|
जानता हूँ कहने को
वो एक बुत ही ठहरा
पर क्या करूँ, कि
मुहब्बत के रास्ते
पर है घना कोहरा।

इसलिए धुँधलाती नजरों से
लिख दिया है हाले दिल...
सुना है प्रेम डाल देता है
मुर्दों में जान

कोई तो होगा जो देगा
मेरी फरियाद पे ध्यान
क्योंकि खुदा ने दे डाला है धड़कता दिल सबको

तो छू ही लेगा मेरा खत
उसकी धड़कन को
इसी उम्मीद पे
करता हूँ इंतजार
जवाब आएगा,
कहता है मन बार-बार

जी हाँ... ये कोई निरी कविता भर नहीं है। एक सचाई है... जिस पर लोग अटूट विश्वास करते हैं। ये विश्वास है शेक्सपियर की अनुपम कृति रोमियो-जूलियट की प्रेम दास्तान से जुड़ा। इसी विश्वास के बूते पर दुनिया भर के प्रेम पीड़ित जूलियट के 'बुत' के नाम पत्र लिखते हैं और उनके जवाब भी पाते हैं। है ना आश्चर्य...लेकिन यही तो हम मनुष्यों के धड़कते उस नन्हे दिल के जिंदा होने का सबूत भी है।
'प्रिय जूलियट... तुम ही मेरी आखिरी आशा हो। वो लड़की जिसे मैं विश्व में सबसे ज्यादा प्यार करता था, मुझे छोड़कर चली गई है...।' यह उन तमाम पत्रों में से एक है, जो इटली के वेरोना स्थित पोस्ट ऑफिस में जूलियट के नाम आते हैं और जिन पर पते के स्थान पर केवल इतना लिखा होता है... 'टू जूलियट वेरोना।' इतने संक्षिप्त पते के बावजूद चिट्ठियाँ वहाँ पहुँच ही जाती हैं, जहाँ उन्हें पहुँचना चाहिए, यानी जूलियट के पास। ठीक पहचाना आपने, यह वही जूलियट है... विश्वविख्यात रचनाकार शेक्सपियर की अमर कृति रोमियो-जूलियट की नायिका। मगर, वह तो एक काल्पनिक पात्र है।

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :