आखिर क्या देखते हैं प्रेमी एक-दूसरे में?

ND
ऐसे लोग जो प्रेम करते हैं वे आखिर एक-दूसरे में क्या देखते हैं। वे मानते हैं कि कोई महिला या पुरुष सम्पूर्ण नहीं होता। मनोचिकित्सक भी मानते हैं कि ऐसे लोगों के लिए दरअसल एक-दूसरे की इच्छाएँ और आकांक्षाएँ ही मायने रखती हैं। वे कभी आपस में शारीरिक आकर्षण नहीं देखते।

मनोवैज्ञानिकों के अनुसार - कोई भी व्यक्ति सम्पूर्ण नहीं होता लेकिन उसकी कुछ खूबियाँ उसे खूबसूरत और पूर्ण व्यक्ति बना देती हैं। लेकिन महिलाएँ इस मामले में थोड़ी अलग होती हैं। वे ऐसे पुरुष प्रेमी तलाश करती हैं जो दूसरों से अलग हों। लेकिन उन्हें पाने के बाद भी वे उनसे शिकायत कर सकती हैं कि वे सम्पूर्ण नहीं हैं।

कई बार महिलाएँ अपने प्रेमी के सामने ही दूसरे पुरुषों की तारीफ भी करती हैं। ऐसी महिलाओं के बारे में मनोचिकित्सक कहते हैं कि वे महिलाएँ भ्रमित होती हैं। कई बार वे अपना साथी इसलिए खो देती हैं कि उन्हें लगता है कि वह दूसरे पुरुषों में जितना सक्रिय और क्रियाशील नहीं है। लेकिन ऐसा सिर्फ इसलिए होता है कि अधिकतर महिलाएँ अपने प्रेमियों में गुस्सेदार व्यक्ति नहीं देखना चाहतीं। यदि ऐसे होता है तो वे हैरान होती हैं कि आखिर उसे क्या हो गया है।
  ऐसे लोग जो प्रेम करते हैं वे आखिर एक-दूसरे में क्या देखते हैं। वे मानते हैं कि कोई महिला या पुरुष सम्पूर्ण नहीं होता। मनोचिकित्सक भी मानते हैं कि ऐसे लोगों के लिए दरअसल एक-दूसरे की इच्छाएँ और आकांक्षाएँ ही मायने रखती हैं।      


महिलाओं का मानना है कि उनका प्रेमी ऐसा नहीं हो सकता। पर यह सिर्फ महिलाओं के साथ ही नहीं है। पुरुष भी कुछ ऐसी ही महिलाओं की तलाश में रहते हैं। पुरुष प्रेम में पड़ते ही जिस महिला से दो-चार होते हैं वह उनकी नजर में एक बेहतर मेजबान, माँ और प्रेयसी होती है। वे चाहते हैं कि वे उस महिला की आँखों में पुतलियों की तरह रहें पर वे नहीं जानते कि पुतलियाँ भी तो स्थिर नहीं होतीं। जब ऐसा होता है तो पुरुष भी वही सोचते हैं, जो महिलाएँ सोचती हैं कि अरे! यह क्या हुआ? यह वह पुरुष या महिला तो नहीं।

ND
एक मनोविश्लेषक के अनुसार - कोई भी महिला या पुरुष सदा एक जैसा नहीं रह सकता। सबके मन और इच्छाओं में उतार-चढ़ाव आते रहते हैं! इसलिए प्रेम में बाहरी सौंदर्य अधिक दिन नहीं चलता। यह अंतर्संबंधों की बात है।

मनोचिकित्सक भी मानते हैं कि प्रायः हम खुद को स्थिर बनाए रखने के लिए हमेशा एक स्थिर रहने वाला साथी तलाश करते हैं जबकि हर व्यक्ति की भावनाएँ अलग-अलग समय पर अलग होती हैं।

WD|
संबंधों में कई बार खटास आ जाती है लेकिन यदि स्त्री-पुरुष एक-दूसरे से सच्चा प्रेम करते हैं व उनमें सम्मान की भावना है तो उनका प्रेम और आकर्षण बना रहता है।

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :

पीरियड में यह 5 काम भूल कर भी न करें वरना....

पीरियड में यह 5 काम भूल कर भी न करें वरना....
आपका पहला पीरियड हो या अनगिनत बार आ चुके हों, इन्हें झेलना इतना आसान नहीं। मुश्किलभरे उन ...

6 बहुत जरूरी सवाल जो हर महिला को अपनी गायनोकोलॉजिस्ट से ...

6 बहुत जरूरी सवाल जो हर महिला को अपनी गायनोकोलॉजिस्ट से पूछना चाहिए
क्या आप उन लोगों में से हैं जिन्होंने कभी एक लेडी डॉक्टर से मिलने की जरूरत नहीं समझी? आप ...

3 स्वर, 3 नाड़ियां... जीवन और सेह‍त दोनों को बनाते हैं शुभ, ...

3 स्वर, 3 नाड़ियां... जीवन और सेह‍त दोनों को बनाते हैं शुभ, जानिए क्या है स्वरोदय विज्ञान
स्वर विज्ञान को जानने वाला कभी भी विपरीत परिस्थितियों में नहीं फंसता और फंस भी जाए तो ...

घर में रोशनी कम रहती है तो यह हो सकता है खतरनाक, पढ़ें रोशनी ...

घर में रोशनी कम रहती है तो यह हो सकता है खतरनाक, पढ़ें रोशनी बढ़ाने के 5 टिप्स
घर या कमरे में कम रोशनी न केवल घर की सजावट को कम करती है बल्कि रहने वाले सदस्यों की सेहत ...

बदल डालें घर का इंटीरियर और नए घर में रहने जैसा अहसास ...

बदल डालें घर का इंटीरियर और नए घर में रहने जैसा अहसास पाएं...
घर में सारा सामान सुव्यवस्थित जमा हुआ है फिर भी कुछ कमी लगती है? किसी नएपन के अहसास की ...

हिन्दी निबंध : क्रांतिकारी चंद्रशेखर आजाद

हिन्दी निबंध : क्रांतिकारी चंद्रशेखर आजाद
चंद्रशेखर आजाद का जन्म 23 जुलाई, 1906 को मध्यप्रदेश के झाबुआ जिले के भाबरा नामक स्थान पर ...

स्वतंत्रता संग्राम के महानायक चंद्रशेखर आजाद की जयंती

स्वतंत्रता संग्राम के महानायक चंद्रशेखर आजाद की जयंती
भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के महानायक आजाद 1920-21 के वर्षों में गांधीजी के असहयोग आंदोलन ...

सोशल मीडिया पर इन गलतियों से बचें

सोशल मीडिया पर इन गलतियों से बचें
सोशल मीडिया के सभी प्लेटफार्म अपनी अलग-अलग खूबियां रखते हैं। उन सबका उद्देश्य भी अलग-अलग ...

अमेरिका में रह रहे सिखों के लिए खुशखबर, न्यूयॉर्क के ...

अमेरिका में रह रहे सिखों के लिए खुशखबर, न्यूयॉर्क के स्कूलों में सिख धर्म के बारे में होगी पढ़ाई
न्यूयॉर्क। अमेरिका में 70 प्रतिशत से ज्यादा नागरिकों को सिख धर्म की जानकारी नहीं होने के ...

जिम में 'आपका' वजन कम हो रहा है या 'जेब' का, फिटनेस का शौक ...

जिम में 'आपका' वजन कम हो रहा है या 'जेब' का, फिटनेस का शौक है तो एक नजर इस पर जरूर डालें
ज्यादातर लोग जिम का भरपूर फायदा नहीं उठा पाते। कारण होता है गलत जिम का चुनाव। सवाल है ...