अमर-प्रेम की दिलकश याद : शीरीं-फरहाद


आर्मेनिया के बादशाह की बेटी शीरीं बेइंतहा खूबसूरत थी। उसकी तस्वीर देखकर ही पर्शिया के बादशाह खुसरो उस पर फिदा हो गए थे। उन्होंने अपने सिपहसालार को शीरीं के सामने शादी का प्रस्ताव लेकर भिजवाया। खुसरो का प्रस्ताव शीरीं ने मान तो लिया साथ ही शर्त भी रख दी कि वह पर्शिया के लोगों तथा उसके लिए दूध का दरिया लाकर दे दे। नहर खुदवाने का काम जिस शख्स को सौंपा गया वह था फरहाद। इस बीच खुसरो ने शीरीं से निकाह कर लिया था।

खुसरो ने फरहाद को बुलवाया और शीरीं से मिलवाया ताकि उसकी सलाह पर फरहाद नहर की खुदाई कर सके। शीरीं को देखते ही फरहाद उसका दीवाना हो गया। नहर खोदते-खोदते फरहाद शीरीं के नाम की रट लगाने लगा। एक दिन जब शीरीं वहां आई तो फरहाद ने उसके कदमों पर झुकते हुए अपने इश्क का इजहार किया, लेकिन शीरीं
ने उसे झिड़क दिया।

लेकिन प्यार हार कहां मानता है। शीरीं का नाम लेते-लेते फरहाद ने समय से पहले नहर तो खोद डाली, लेकिन वह शीरीं के इश्क में दीवाना हो गया। जब खुसरो को इसकी जानकारी मिली तो वह आगबबूला हो गया। लेकिन फरहाद ने बिना डरे दिल की बात कह डाली कि मैं शीरीं की मोहब्बत में इतना दीवाना हो गया हूं कि अपने दिलो दिमाग पर नियंत्रण ही नहीं रहा। इस पर खुसरो ने तलवार से उसे मारना चाहा तो उसके वजीर ने रोक लिया और सलाह दी कि यदि वह अपनी मेहनत से पहाड़ियों के आर-पार सड़क बना देगा तो शीरीं से उसका निकाह कर दिया जाएगा। वह जानता था कि फरहाद यह नहीं कर पाएगा। लेकिन दीवाने फरहाद ने यह शर्त स्वीकार कर ली। सड़क बनाते-बनाते फरहाद ने खाना-पीना छोड़ दिया।

उसकी बेइंतहा मोहब्बत ने आखिर शीरीं का दिल जीत लिया। इस बीच सड़क पूरी होते देख खुसरो घबराया। उसने फरहाद के पास यह झूठी खबर पहुंचा दी कि शीरी ने आत्महत्या कर ली। यह सुनते ही फरहाद दीवारों से सिर पटक-पटककर चिल्लाने लगा और अपने सिर पर कुल्हाड़ी मारकर दम तोड़ दिया। जब शीरीं को फरहाद की मौत की खबर सुनाई गई तो वह दौड़कर उस जगह पहुंची जहाँ फरहाद ने दम तोड़ा था। और जब उसे खुसरो के छल का पता चला तो उसने महल में लौटने से इंकार कर दिया और फरहाद के कदमोंपर दम तोड़ दिया। इन दो अमर प्रेमियों को एक साथ दफन किया गया। ये भले ही दुनिया से कूच कर गए हों, लेकिन इनकी मोहब्बत आज भी जिंदा है और कयामत तक जिंदा रहेगी

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :