BJP पर आतिशी ने लगाया आपत्तिजनक पर्चे बांटने का आरोप, गौतम गंभीर बोले- साबित हुए तो नहीं लड़ूंगा चुनाव

पुनः संशोधित गुरुवार, 9 मई 2019 (22:40 IST)
नई दिल्ली। पूर्वी दिल्ली से आम आदमी पार्टी की उम्मीदवार आतिशी गुरुवार को अपने खिलाफ ‘आपत्तिजनक और अपमानजनक’ टिप्पणियों वाला एक पर्चा पढ़ते हुए रो पड़ीं। आतिशी ने दावा किया कि उनके प्रतिद्वंद्वी भाजपा के ने निर्वाचन क्षेत्र में ऐसे पर्चे बंटवाए हैं।
आतिशी के इस आरोप का गंभीर ने जोरदार खंडन किया और कहा कि अगर आरोप साबित हुए तो वे चुनावी दौड़ से खुद बाहर हो जाएंगे। भाजपा ने आप पर आरोप लगाया कि वह ऐसी घटनाओं का मंच प्रबंधन कर रही है।

आतिशी ने आरोप लगाया कि उनके और उनके परिवार के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी वाले पर्चों को भाजपा ने आवासीय परिसरों में बंटवाया है।

आप नेता ने कहा कि गंभीर जब राजनीति में आए तो मैंने खुद उनका स्वागत किया, लेकिन मैंने कभी कल्पना नहीं की थी कि लोकसभा चुनाव में वे इस स्तर तक गिर जाएंगे।
आतिशी ने कहा कि गौतम गंभीर से मेरा सिर्फ एक सवाल है। अगर वह ऐसा सिर्फ एक महिला के खिलाफ कर रहे हैं तो पूर्वी दिल्ली की उन लाखों महिलाओं का क्या होगा जो अपनी सुरक्षा को लेकर चिंतित हैं।

संवाददाता सम्मेलन के दौरान आतिशी के साथ दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया भी थे। पत्रकारों के सामने पर्चा पढ़ते समय आतिशी रो पड़ीं।

गंभीर ने कई ट्वीट कर कहा कि उन्हें अरविंद केजरीवाल जैसे मुख्यमंत्री के होने पर ‘शर्म’ महसूस हो रही है और अगर ये आरोप साबित हुए तो वे अपनी उम्मीदवारी वापस ले लेंगे।
सिसोदिया ने आरोप लगाया कि ये पर्चे अखबारों में रखे गए थे जिन्हें अपार्टमेंट परिसरों में बांटा गया था। दिल्ली के मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने कभी कल्पना नहीं की थी कि गौतम गंभीर ‘इतना नीचे’ गिर जाएंगे।

केजरीवाल ने ट्वीट किया कि अगर ऐसी मानसिकता वाले लोगों को वोट दिया जाता है तो महिलाएं कैसे सुरक्षा की उम्मीद कर सकती हैं? आतिशी, मजबूत रहो। मैं कल्पना कर सकता हूं कि आपके लिए यह कितना मुश्किल होगा। ये ऐसी ताकतें हैं जिनके खिलाफ हमें लड़ाई लड़नी है।
गंभीर ने एक ट्वीट में कहा कि अरविंद केजरीवाल एक महिला जो कि आपकी सहयोगी भी है, की गरिमा के नाजायज इस्तेमाल के कृत्य के लिए मैं आपसे घृणा करता हूं। क्या यह सब चुनाव जीतने के लिए है? मिस्टर सीएम आप कचरा हैं और आपके दिमाग को साफ करने के लिये आपको अपनी ही झाड़ू की जरूरत है।
एक अन्य ट्वीट में उन्होंने कहा कि मेरी चुनौती अरविंद केजरीवाल के नंबर 2 और आतिशी के लिए है कि अगर यह साबित होता है कि इसे मैंने किया है तो मैं उसी वक्त अपनी उम्मीदवारी छोड़ दूंगा। अगर नहीं हुआ तो आप राजनीति छोड़ देंगे? भाजपा ने भी इन आरोपों का खंडन किया है।

पूर्वी दिल्ली में भाजपा के मीडिया प्रभारी एन. कुमार ने कहा कि इन पर्चों से भाजपा का कोई लेना-देना नहीं है। आप का कोई चरित्र नहीं है और लोगों के बीच वे ऐसे मंच प्रबंधन के लिए कुख्यात हैं। वे कुछ भी कर सकते हैं जैसे अपने नेता को थप्पड़ पड़वाना और लोकसभा चुनाव के लिए दौड़ में बने रहने की खातिर इस तरह के आपत्तिजनक पर्चे बंटवाना, जबकि वे बुरी तरह से हार रहे हैं।(भाषा)

 

और भी पढ़ें :