बारिश में स्त्री

WDWD
बारिश है

या घना जंगल बाँस का

उस पार एक स्त्री बहुत धुँधली

मैदान के दूसरे सिरे पर झोपड़ी

जैसे समंदर के बीच कोई टापू

वह दिख रही है यों

जैसे परदे पर चलता कोई दृश्य

जैसे नजर के चश्मे के बगैर देखा जाए कोई एलबम

जैसे बादलों में बनता है कोई आकार

जैसे पिघल रही हो बर्फ की प्रतिमा

घालमेल हो रहा है उसके रंगों में

ऊपर मटमैला

WDWD
नीचे लाल

बीच में मटमैला-सा लाल

स्त्री निबटा रही है जल्दी-जल्दी काम

बेखबर

कि देख रहा है कोई

चली गई है झोपड़ी के पीछे
WD|
विजयशंकर चतुर्वेदी

Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :