बिना पैंट के मेट्रो का सफर

पुनः संशोधित मंगलवार, 9 जनवरी 2018 (12:04 IST)
इस अजीबोगरीब चलन की शुरुआत में हुई थी और अब यह कई देशों में फैल गया है। जर्मनी के कई शहरों में 7 जनवरी को लोगों ने बिना पैंट पहने ही मेट्रो का सफर किया।
 
2002 में इस चलन को पहली बार देखा गया और अब लोग हार साल एक दिन के लिए बिना पैंट के मेट्रो में सफर करते हैं। जर्मनी में बर्लिन, म्यूनिख और हैम्बर्ग में बिना पैंट पहने नौजवानों को देखा गया।
 
लोगों तक फेसबुक के जरिये संदेश पहुंचाया गया। बर्लिन में करीब 70 से 80 लोगों ने इस इवेंट में हिस्सा लिया। फेसबुक के ही जरिये लोगों को यह बता दिया गया था कि यह सिर्फ मजे के लिए है और इसका मकसद किसी को परेशान करना नहीं है।
 
युवाओं से यह भी अनुरोध किया गया कि वे शराब पी कर ना आएं और इतने छोटे ना पहनें कि बाकी यात्री असहज हो जाएं। जर्मनी में इस इवेंट के आयोजक डानिएल पी ने कहा कि मकसद बस यात्रियों के हैरान चेहरे देखना और मस्ती करना है।
 
शुरुआत न्यूयॉर्क में केवल 7 लोगों के साथ हुई थी। आज दुनिया भर के 25 देश इसमें शामिल हैं। एक अनुमान के अनुसार 60 शहरों में 'नो पैंट्स सबवे राइड' आयोजित हुआ और कुल 10,000 लोगों ने इसमें हिस्सा लिया।
 
सबसे ज्यादा 4,000 लोग तो न्यूयॉर्क में ही देखे गए। यह आयोजन हमेशा जनवरी में कड़कड़ाती ठंड के बीच ही किया जाता है।

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :

चूहों के कारण खतरे में पड़े कोरल रीफ

चूहों के कारण खतरे में पड़े कोरल रीफ
दिखने में खूबसूरत और समुद्री इकोसिस्टम में संतुलन बनाए रखनी वाले कोरल रीफ यानी मूंगा ...

बेटियों को नहीं पढ़ाने की कीमत 30,000 अरब डॉलर

बेटियों को नहीं पढ़ाने की कीमत 30,000 अरब डॉलर
दुनिया के कई सारे हिस्सों में बेटियों को स्कूल नहीं भेजा जाता। वर्ल्ड बैंक का कहना है कि ...

बेहतर कल के लिए आज परिवार नियोजन

बेहतर कल के लिए आज परिवार नियोजन
अनियंत्रित गति से बढ़ रही जनसंख्या देश के विकास को बाधित करने के साथ ही हमारे आम जनजीवन को ...

मछली या सी-फ़ूड खाने से पहले ज़रा रुकिए

मछली या सी-फ़ूड खाने से पहले ज़रा रुकिए
अगली बार जब आप किसी रेस्टोरेंट में जाएं और वहां मछली या कोई और सी-फ़ूड ऑर्डर करें तो इस ...

आरएसएस से विपक्षियों का खौफ कितना वाजिब?

आरएसएस से विपक्षियों का खौफ कितना वाजिब?
साल 2014 में बीजेपी के सत्ता में आने के बाद से ही विपक्षी दलों समेत कई आलोचक राष्ट्रीय ...

अमेरिका चाहता है तुर्की रूस से नहीं बल्कि उससे मिसाइलें ...

अमेरिका चाहता है तुर्की रूस से नहीं बल्कि उससे मिसाइलें खरीदे
वॉशिंगटन। अमेरिका अपने नाटो साझेदार तुर्की को प्रतिद्वंद्वी रूस से रक्षा उपकरण खरीदने के ...

सुप्रीम कोर्ट सख्त, गोरक्षा के नाम पर भीड़ को हिंसा की ...

सुप्रीम कोर्ट सख्त, गोरक्षा के नाम पर भीड़ को हिंसा की इजाजत नहीं दे सकती है सरकार
नई दिल्ली। गोरक्षा के नाम पर होने वाली भीड़ की हिंसा मामले में सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार ...

मशहूर अभिनेत्री रीता भादुड़ी का निधन, निमकी मुखिया में निभा ...

मशहूर अभिनेत्री रीता भादुड़ी का निधन, निमकी मुखिया में निभा रही थीं दादी का किरदार
मुंबई। जानी मानी अदाकारा रीता भादुड़ी का निधन हो गया है। उनकी उम्र 62 वर्ष थी। 'हीरो नंबर ...