बिना पैंट के मेट्रो का सफर

पुनः संशोधित मंगलवार, 9 जनवरी 2018 (12:04 IST)
इस अजीबोगरीब चलन की शुरुआत में हुई थी और अब यह कई देशों में फैल गया है। जर्मनी के कई शहरों में 7 जनवरी को लोगों ने बिना पैंट पहने ही मेट्रो का सफर किया।
 
2002 में इस चलन को पहली बार देखा गया और अब लोग हार साल एक दिन के लिए बिना पैंट के मेट्रो में सफर करते हैं। जर्मनी में बर्लिन, म्यूनिख और हैम्बर्ग में बिना पैंट पहने नौजवानों को देखा गया।
 
लोगों तक फेसबुक के जरिये संदेश पहुंचाया गया। बर्लिन में करीब 70 से 80 लोगों ने इस इवेंट में हिस्सा लिया। फेसबुक के ही जरिये लोगों को यह बता दिया गया था कि यह सिर्फ मजे के लिए है और इसका मकसद किसी को परेशान करना नहीं है।
 
युवाओं से यह भी अनुरोध किया गया कि वे शराब पी कर ना आएं और इतने छोटे ना पहनें कि बाकी यात्री असहज हो जाएं। जर्मनी में इस इवेंट के आयोजक डानिएल पी ने कहा कि मकसद बस यात्रियों के हैरान चेहरे देखना और मस्ती करना है।
 
शुरुआत न्यूयॉर्क में केवल 7 लोगों के साथ हुई थी। आज दुनिया भर के 25 देश इसमें शामिल हैं। एक अनुमान के अनुसार 60 शहरों में 'नो पैंट्स सबवे राइड' आयोजित हुआ और कुल 10,000 लोगों ने इसमें हिस्सा लिया।
 
सबसे ज्यादा 4,000 लोग तो न्यूयॉर्क में ही देखे गए। यह आयोजन हमेशा जनवरी में कड़कड़ाती ठंड के बीच ही किया जाता है।

Widgets Magazine
वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :