हारकर जो जीते उसे 'युवराज' कहते हैं, जानिए चैंपियन युवी के बारे में 12 खास बातें

Last Updated: सोमवार, 10 जून 2019 (15:03 IST)
अंडर-19 विश्‍व कप, 2007 वर्ल्‍ड टी-20 और 2011 विश्‍व कप में टीम इंडिया की जीत के हीरो रहे ने आखिरकार 10 जून 2019 को अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह दिया है। युवराज सिंह ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में अपनी अलग पहचान बनाई और अपने दम पर टीम इंडिया को कई यादगार जीत दिलाई। युवराज सिंह वे हैं, जिन्‍होंने कैंसर जैसी गंभीर बीमारी को मात देकर क्रिकेट के मैदान पर वापसी की। सही मायनों में युवराज क्रिकेट के मैदान के साथ ही असल जिंदगी में भी योद्धा हैं। जानिए चैंपियन युवी के बारे में 12 खास बातें-
1. 12 दिसंबर 1981 को चंडीगढ़ में जन्मे युवराज टीम में 12 नंबर की ही जर्सी पहनकर खेलते हैं। उनके पिता योगराज भी क्रिकेटर रहे हैं। उन्होंने अभिनेत्री हेजल कीच से शादी की।
2. अंडर-19 विश्व कप 2000 में उनके शानदार प्रदर्शन के लिए उन्हें 'मैन ऑफ द सीरीज' चुना गया।
3. 2000 में केन्या के खिलाफ नैरोबी वनडे से युवराज ने अपने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट करियर का आगाज किया था।
4. 16 अक्टूबर 2003 को न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट से युवराज ने टेस्ट करियर की शुरुआत की।
5. सिक्सर किंग युवराज ने 2007 में डरबन में स्कॉटलैंड के खिलाफ टी-20 में पदार्पण किया था। उन्होंने 2007 के ही टी-20 विश्व कप में इंग्लैंड के तेज गेंदबाज स्टुअर्ट ब्रॉड की 6 गेंदों पर लगातार 6 छक्के लगाए थे, जो एक विश्व रिकॉर्ड है।

 

और भी पढ़ें :