विश्व कप ट्वंटी-20 टूर्नामेंट में हरमनप्रीत के विस्फोटक शतक से भारत की धमाकेदार जीत

पुनः संशोधित शुक्रवार, 9 नवंबर 2018 (23:58 IST)
गयाना। कप्तान कौर (103) के विस्फोटक शतक और स्पिन गेंदबाजों के लाजवाब प्रदर्शन से भारत ने को आईसीसी में शुक्रवार को ग्रुप बी मैच में एकतरफा अंदाज में 34 रनों से पीट दिया।भारत ने 5 विकेट पर 194 रनों का मजबूत स्कोर बनाने के बाद न्यूजीलैंड को 20 ओवरों में 9 विकेटों पर 160 रनों पर रोक दिया।

भारतीय कप्तान को उनकी बेहतरीन शतकीय पारी के लिए 'प्लेयर ऑफ द मैच' का पुरस्कार मिला। पदार्पण मैच खेल रही ऑफ स्पिनर दयालन हेमलता ने बेहतरीन गेंदबाजी की और 4 ओवरों में 26 रन देकर 3 विकेट लिए। लेग स्पिनर पूनम यादव ने 4 ओवरों में 33 रनों पर 3 विकेट लिए।हरमनप्रीत ने मात्र 51 गेंदों पर 103 रनों की आतिशी पारी में 7 चौके और 8 गगनचुंबी छक्के लगाए।

हरमनप्रीत का ट्वंटी-20 में यह पहला शतक है। उन्होंने 89वें मैचों में जाकर अपना पहला शतक बनाया। इससे पहले ट्वंटी-20 में उनका सर्वश्रेष्ठ स्कोर 77 रन था। पिछले साल इंग्लैंड में हुए विश्व कप में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 50 ओवरों के विश्व कप में नाबाद 171 रन बनाने वाली हरमनप्रीत ने कीवी गेंदबाजों की तबीयत से धुनाई की।

भारतीय कप्तान ने अपने 50 रन 33 गेंदों में 3 चौकों और 4 छक्कों की मदद से पूरे किए। उन्होंने 100 रन 49 गेंदों में 7 चौकों और 8 छक्कों के सहारे पूरे किए। हरमनप्रीत ने 50 से 100 रन तक पहुंचने के लिए मात्र 16 गेंदें खेलीं और इस दौरान उन्होंने 4 चौके और 4 छक्के लगाए।ओपनर तान्या भाटिया (9), अनुभवी स्मृति मंधाना (2) और पदार्पण मैच खेल रही दयालन हेमलता (15) के विकेट मात्र 40 रन तक गिर जाने के बाद हरमनप्रीत और जेमिमा रोड्रिग्स (59) ने चौथे विकेट के लिए 134 रनों की महत्वपूर्ण साझेदारी कर भारत को सुरक्षित स्थिति में
पहुंचाया।

रोड्रिग्स ने 45 गेंदों पर 59 रनों की पारी में 7 चौके लगाए।हरमनप्रीत आखिरी ओवर की 5वीं गेंद पर विकेटकीपर के हाथों कैच आउट हुईं लेकिन तब तक उन्होंने कमाल की विस्फोटक पारी खेल ली थी जिसके लिए कीवी खिलाड़ियों ने भारतीय कप्तान को बधाई भी दी। (वार्ता)


और भी पढ़ें :