द. अफ्रीका ने रचा इतिहास, 48 वर्षों में ऑस्ट्रेलिया से जीती घरेलू सीरीज

पुनः संशोधित मंगलवार, 3 अप्रैल 2018 (19:28 IST)
जोहानसबर्ग। (21 रन पर छह विकेट) की घातक गेंदबाजी के दम पर दक्षिण अफ्रीका ने ऑस्ट्रेलिया को चौथे और अंतिम टेस्ट के पांचवें दिन मंगलवार को 492 रन के रिकॉर्ड अंतर से रौंदकर पिछले 48 वर्षों में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहली बार जीत ली।

दक्षिण अफ्रीका ने पहला टेस्ट हारने के बाद शानदार वापसी की और अगले तीन टेस्ट जीतकर 3-1 से सीरीज अपने नाम की। दक्षिण अफ्रीका में ऑस्ट्रेलिया के सामने 612 रन का लक्ष्य रखा और 'बॉल टेम्परिंग' प्रकरण के चलते टूटी पड़ी ऑस्ट्रेलियाई टीम को 46.4 ओवर में 119 रन पर ढेर कर दिया।

ऑस्ट्रेलिया ने सुबह तीन विकेट पर 88 रन से आगे खेलना शुरू किया और मात्र 31 रन जोड़कर शेष सात विकेट गंवा दिए। फिलेंडर ने घातक गेंदबाजी करते हुए इनमें से छह विकेट झटके और पहले ही सत्र में ऑस्ट्रेलिया को ध्वस्त कर दिया। दक्षिण अफ्रीका ने इस तरह ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पिछले 48 वर्षों में पहली बार घरेलू सीरीज जीत ली।

दक्षिण अफ्रीका ने 1970 के बाद से ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ कभी घरेलू सीरीज नहीं जीती थी। दक्षिण अफ्रीका की 492 रन की जीत रनों के लिहाज से उसके टेस्ट इतिहास की सबसे बड़ी जीत और टेस्ट इतिहास में ओवरऑल चौथी सबसे बड़ी जीत है। फिलेंडर को मैच में उनकी शानदार गेंदबाजी के लिए 'मैन ऑफ द मैच' का पुरस्कार मिला। फिलेंडर ने दोनों पारियों में कुल नौ विकेट हासिल किए। दक्षिण अफ्रीका के तेज गेंदबाज कैगिसो रबाडा 'मैन ऑफ द सीरीज' रहे।

दक्षिण अफ्रीका ने इस जीत से अपने तेज गेंदबाज मोर्न मोर्कल को विजयी विदाई भी दे दी, जिनका यह आखिरी टेस्ट था। मोर्कल ने ऑस्ट्रेलियाई पारी की आखिरी गेंद डाली जिस पर नाथन लियोन रन आउट हुए। इस हार के साथ ऑस्ट्रेलिया के लिए इस दु:स्वप्न साबित हुए दौरे का भी अंत हो गया।

यह टेस्ट सीरीज दक्षिण अफ्रीका की जीत से ज्यादा बॉल टेम्परिंग प्रकरण के लिए याद की जाएगी जिसमें केपटाउन के तीसरे टेस्ट में टेम्परिंग के लिए दोषी पाए गए स्टीवन स्मिथ और डेविड वॉर्नर एक एक साल तथा कैमरन बेनक्राफ्ट नौ महीने के लिए प्रतिबंधित हो गए। ऑस्ट्रेलियाई कोच डैरेन लेहमैन के लिए यह सीरीज दु:खद रही और उन्होंने हार के साथ ऑस्ट्रेलियाई कोच पद छोड़ दिया।

लेहमैन ने टेम्परिंग प्रकरण सामने आने के बाद घोषणा कर दी थी कि वह आखिरी मैच के बाद कोच पद छोड़ देंगे। ऑस्ट्रेलिया ने सुबह जब अपनी पारी को आगे बढ़ाया तो पीटर हैंड्सकोंब 23 और शॉन मार्श सात रन पर नाबाद थे। उम्मीद थी कि ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज टेम्परिंग प्रकरण को पीछे छोड़ते हुए संघर्ष करेंगे लेकिन फिलेंडर ने ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजी को एक ही सत्र में ध्वस्त कर डाला।

फिलेंडर ने मार्श (7), मिशेल मार्श (0), हैंड्सकोंब (24), टिम पेन (7), पैट कमिंस (1) और चाड सेयर्स (0) को आउट कर ऑस्ट्रेलिया को समर्पण करने के लिए मजबूर कर दिया। नाथन लियोन नौ रन बनाकर रनआउट हुए। फिलेंडर को कल गिरे तीन ऑस्ट्रेलियाई विकेटों में से कोई विकेट नहीं मिला था लेकिन आज उन्होंने छह विकेट निकाल दिए। ऑस्ट्रेलिया ने 16.4 ओवर के खेल में अपने सभी सात विकेट गंवा दिए। फिलेंडर को 21 रन पर छह विकेट, मोर्कल को 28 रन पर दो विकेट और केशव महाराज को 47 रन पर एक विकेट मिला।

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

और भी पढ़ें :