भारत की ओर से न्यूजीलैंड में पदार्पण करने से बेहतर कुछ नहीं : शुभमन गिल

Last Updated: रविवार, 13 जनवरी 2019 (16:58 IST)
नई दिल्ली। भारतीय टीम में शामिल किए गए ने कहा कि अपने अंतरराष्ट्रीय करियर की शुरुआत न्यूजीलैंड में करने से बेहतर कुछ नहीं हो सकता, क्योंकि 12 महीने पहले उन्हें अंडर-19 विश्व कप में 'प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट' चुना गया था।

मोहाली में बसे इस क्रिकेटर को अपने अंडर-19 कप्तान पृथ्वी शॉ की तरह ही भारतीय टीम में शामिल होने का मौका मिला, हालांकि यह छोटे प्रारूप में ही होगा। लेकिन इस खिलाड़ी के लिए 2018 स्वप्निल रहा जिसमें उसे विश्व कप में शानदार प्रदर्शन की बदौलत आईपीएल का लुभावना अनुबंध मिला। उसने हाल में रणजी ट्रॉफी अभियान में पंजाब के लिए 10 पारियों में 98.75 के औसत से 790 रन बनाए। वे कोच राहुल द्रविड़ की भारतीय 'ए' टीम का भी हिस्सा थे जिसने पिछले महीने न्यूजीलैंड का दौरा किया था। शुभमन को भारतीय टीम में शामिल होने की खबर बीती रात मिली थी।
उन्होंने कहा कि न्यूजीलैंड दौरे के लिए चुना जाना मेरे लिए अच्छा है। मैं वहां अंडर-19 विश्व कप में खेला था और अब दोबारा मेरे पास यह मौका है। मैंने वहां अच्छा प्रदर्शन किया है और मैं कह सकता हूं कि वहां तकनीक में इतना ज्यादा सामंजस्य नहीं बिठाना होता। अगर मुझे मौका मिलता है तो मुझे सिर्फ की ओर से खेलने से आने वाले दबाव से निपटना होगा। मानसिक रूप से और यह निश्चित रूप से थोड़ा सा अलग होगा लेकिन मैं तैयार हूं।
शुभमन को भारतीय टीम में शामिल होने की खबर मिली तो उनकी प्रतिक्रिया क्या थी? इस बारे में इस खिलाड़ी ने कहा कि देर रात को यह खबर मिली। मेरे दिल की धड़कन तेज हो गई थी। संदेश आने शुरू हो गए थे और मैं अपने पिता को बताने गया। यह मेरे लिए विशेष क्षण था।

पंजाब के वरिष्ठ साथी युवराज सिंह और आईपीएल के कप्तान दिनेश कार्तिक शुरू में बधाई देने वाले खिलाड़ियों में शामिल रहे। 23 जनवरी से शुरू होने वाले न्यूजीलैंड दौरे के लिए निलंबित खिलाड़ी लोकेश राहुल की जगह उन्हें जगह मिली है। भारत का शीर्षक्रम इस समय संतुलित है लेकिन शुभमन को फिर भी न्यूजीलैंड के खिलाफ 5 वनडे और 3 टी-20 में खेलने के मौका मिल सकता है।
उन्होंने कहा कि टीम में चुना जाना उम्मीद के विपरीत था, लेकिन मैं उन परिस्थितियों को समझता हूं जिसमें मुझे चुना गया है। मैंने दिमाग में लक्ष्य बन लिया है। मैं अभी तक जितने भी स्तर पर खेला हूं, मैंने अच्छा प्रदर्शन किया है लेकिन इसने मुझे यह भरोसा भी दिया है कि मैं अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में बेहतर कर सकता हूं।
(भाषा)


और भी पढ़ें :