Widgets Magazine

गुजरात के खिलाफ उम्मीदों को पंख लगाने उतरेगी दिल्ली डेयरडेविल्स

नई दिल्ली| पुनः संशोधित बुधवार, 3 मई 2017 (14:42 IST)

नई दिल्ली। लगातार 5 मैचों में हार के बाद बल्लेबाजों की सही समय पर खेली गई जागरूक पारियों से आईपीएल-10 में अपनी उम्मीदें जीवंत रखने वाली की टीम गुरुवार को यहां के खिलाफ अपनी इस आशा को पंख लगाने के लिए उतरेगी जबकि सुरेश रैना की अगुवाई वाली टीम अगर-मगर की कठिन डगर में बने रहने की कोशिश करेगी।
 
डेयरडेविल्स ने मंगलवार रात यहां सनराइजर्स हैदराबाद को रोमांचक मैच में 6 विकेट से हराकर प्लेऑफ में पहुंचने की अपनी उम्मीदें बनाए रखी हैं। उसके अब 9 मैचों में 6 अंक हैं लेकिन उसकी आगे की राह कतई आसान नहीं है, क्योंकि राहुल द्रविड़ की कोचिंग वाली टीम को अगर नॉकआउट में स्थान बनाना है तो उसे अपने बाकी बचे पांचों मैच जीतने होंगे। 
 
दिल्ली के लिए अच्छी बात यह है कि उसे इनमें से 4 मैच अपने घरेलू मैदान फिरोजशाह कोटला पर खेलने हैं और अब तक लचर प्रदर्शन कर रहे उसके बल्लेबाज सही समय पर अपनी जिम्मेदारियों पर खरे उतरने लगे हैं। डेयरडेविल्स का टीम प्रबंधन हालांकि यह बात अच्छी तरह से समझता है कि 1 मैच में भी हार उस पर भारी पड़ जाएगी और इसलिए वह किसी भी तरह की ढिलाई से बचना चाहेगा। 
 
गुजरात लॉयंस की बात करें तो उसकी भी सबसे बड़ी समस्या बल्लेबाजों का अपेक्षित प्रदर्शन नहीं कर पाना है। इसके कारण उसकी टीम ने अब तक 10 मैचों में से 7 गंवाए हैं और उसके केवल 6 अंक हैं। लॉयंस के लिए प्लेऑफ में पहुंचना लगभग नामुमकिन लग रहा है लेकिन अगर-मगर के अंकगणित में उसकी धुंधली संभावनाएं बनी हुई हैं और निश्चित तौर पर उसकी टीम इन उम्मीदों को बरकरार रखने के लिए प्रतिबद्ध होगी। 
 
इससे पहले तक केवल संजू सैमसन के प्रदर्शन में ही निरंतरता देखने को मिली थी जिन्होंने अब तक 313 रन बनाए हैं। उनको छोड़कर दिल्ली का कोई भी अन्य बल्लेबाज 200 रन तक नहीं पहुंच पाया है जिससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि अगर डेयरडेविल्स को प्लेऑफ में पहुंचने के लिए संघर्ष करना पड़ रहा है तो इसके लिए काफी हद तक उसके बल्लेबाज जिम्मेदार रहे हैं।
 
जहीर चोटिल होने के कारण पिछले 2 मैचों में नहीं खेल पाए। टीम को उनकी प्रेरणादायी कप्तानी, अनुभव और एक मंझे हुए गेंदबाज की कमी खली। जहीर की अनुपस्थिति में कैगिसो रबादा पर दारोमदार था लेकिन सनराइजर्स के बल्लेबाजों के सामने उनकी एक नहीं चली थी और वे 4 ओवरों में 59 रन लुटा गए थे। यह दक्षिण अफ्रीकी गेंदबाज निश्चित रूप से इसमें सुधार करने के लिए बेताब होगा।
 
क्रिस मौरिस ऑलराउंडर की भूमिका में अमूमन खरे उतरे हैं जबकि मोहम्मद शमी ने अपनी सटीक गेंदबाजी से उम्मीदें जगाई हैं। अमित मिश्रा अब भी टीम के मुख्य स्पिनर हैं लेकिन वे एक जैसा प्रदर्शन करने में नाकाम रहे हैं। बाएं हाथ के स्पिनर शाहबाज नदीम और ऑफ स्पिनर जयंत यादव को अब तक क्रमश: 4 और 2 मैचों में ही खेलने का मौका मिला है जिनमें उन्होंने किफायती गेंदबाजी की। 
 
गुजरात लॉयंस की परेशानी उसके बल्लेबाजों का निरंतर अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाना है। ब्रैंडन मैक्कुलम (318 रन), सुरेश रैना (318 रन), दिनेश कार्तिक (221), आरोन फिंच (199), ईशान किशन (149), ड्वेन स्मिथ (94) की मौजूदगी में टीम का बल्लेबाजी क्रम बेहद मजबूत दिख रहा है लेकिन ये अधिकतर मौकों पर टीम की जरूरतों के हिसाब से प्रदर्शन नहीं कर पाए।
 
ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज एंड्रयू टाई के कंधे की चोट के कारण बाहर होने से लॉयंस की गेंदबाजी भी कमजोर पड़ गई है। टाई ने 6 मैचों में 12 विकेट लिए थे। टीम को अब तेज गेंदबाजी में बासिल थम्पी और जेम्स फाकनर पर भरोसा है। दिल्ली की तरफ से रणजी मैच खेलने वाले स्थानीय तेज गेंदबाज प्रदीप सांगवान को अपने घरेलू मैदान पर फिर से मौका मिल सकता है। 
 
लॉयंस की सबसे बड़ी चिंता रवीन्द्र जडेजा का नहीं चल पाना है। भारतीय टेस्ट टीम के अहम सदस्य जडेजा ने अब तक 8 मैचों में केवल 4 विकेट लिए हैं। वे रन प्रवाह रोकने में भी नाकाम रहे हैं। जडेजा का इकॉनॉमी रेट 9.33 है। बाएं हाथ के इस स्पिनर का विशेषकर टेस्ट मैचों में फिरोजशाह कोटला पर अच्छा प्रदर्शन रहा है और वे उससे प्रेरणा लेकर अपने असली रंग में लौटने की कोशिश करेंगे। 
 
टीमें इस प्रकार हैं- 
 
दिल्ली डेयरडेविल्स : जहीर खान (कप्तान), मोहम्मद शमी, शाहबाज नदीम, जयंत यादव, अमित मिश्रा, श्रेयस अय्यर, संजू सैमसन, करुण नायर, ऋषभ पंत, सीवी मिलिंद, खलील अहमद, प्रत्युष सिंह, मुरुगन अश्विन, आदित्य तारे, शशांक सिंह, अंकित बवाने, नवदीप सैनी, कोरे एंडरसन, एंजेलो मैथ्यूज, पैट कमिंस, कागिसो रबादा, क्रिस मौरिस, कार्लेस ब्रेथवेट, सैम बिलिंग्स में से।
 
गुजरात लॉयंस : सुरेश रैना (कप्तान), अक्षदीप नाथ, शुभम अग्रवाल, बासिल थम्पी, ड्वेन स्मिथ, चिराग सूरी, जेम्स फाकनर, आरोन फिंच, मनप्रीत गोनी, ईशान किशन, रवीन्द्र जडेजा, शादाब जकाती, दिनेश कार्तिक, धवल कुलकर्णी, प्रवीण कुमार, ब्रेंडन मैक्कुलम, प्रदीप सांगवान, जैसन राय, जयदेव शाह, शैली शौर्य, नत्थू सिंह, तेजस बारोका और एंड्रयू टाई। 
 
मैच रात 8 बजे से शुरू होगा। (भाषा)


वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
Widgets Magazine
Widgets Magazine