ऑस्ट्रेलिया को भारत का ठोस जवाब, जडेजा ने झटके 5 विकेट

Last Updated: शुक्रवार, 17 मार्च 2017 (19:07 IST)
रांची। लेफ्ट आर्म स्पिनर रवीन्द्र जडेजा ने बेहतरीन गेंदबाजी करते हुए 124 रनों पर 5 विकेट  लेकर ऑस्ट्रेलिया को तीसरे टेस्ट के दूसरे दिन शुक्रवार को पहली पारी में 451 रनों पर समेटने  में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई और फिर भारत ने ठोस शुरुआत करते हुए दिन का खेल समाप्त  होने तक 1 विकेट खोकर 120 रन बना लिए।
भारत अभी ऑस्ट्रेलिया के 451 रन के स्कोर से 331 रन पीछे है जबकि उसके 9 विकेट बाकी  हैं। भारत का एकमात्र विकेट लोकेश राहुल के रूप में गिरा, जो 102 गेंदों पर 9 चौकों की मदद  से 67 रन बनाकर आउट हुए। राहुल का इस सीरीज में यह चौथा अर्धशतक था। 
 
राहुल और चोट से उबरकर इस मैच में वापसी करने वाले मुरली विजय ने पहले विकेट के लिए  31.2 ओवरों में 91 रनों की शानदार ओपनिंग साझेदारी की। मिशेल स्टार्क की जगह इस मैच  में ऑस्ट्रेलियाई टीम में शामिल किए गए पैट कमिंस ने राहुल को विकेटकीपर मैथ्यू वेड के  हाथों कैच कराया।
 
अपना 50वां मैच खेल रहे विजय पहले दिन के खेल की समाप्ति के समय 112 गेंदों में 6  चौकों की मदद से 42 और चेतेश्वर पुजारा 26 गेंदों में 1 चौके के सहारे 10 रन बनाकर क्रीज  पर हैं। दोनों ने दूसरे विकेट के लिए अब तक 29 रनों की साझेदारी कर डाली है।  तीसरे टेस्ट के दूसरे दिन का खेल 4 खिलाड़ियों पर केंद्रित रहा जिनमें से एक तो मैदान में ही  नहीं थे। ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीवन स्मिथ ने नाबाद 178 रनों की बेहतरीन पारी खेली लेकिन  दूसरे छोर पर जोड़ीदार नहीं बचने के कारण वे दोहरा शतक बनाने से दूर रह गए। ऑलराउंडर  ग्लेन मैक्सवेल (104) ने अपने करियर का पहला शतक बनाया। 
 
लेफ्ट आर्म स्पिनर जडेजा ने 49.3 ओवरों की मैराथन गेंदबाजी में 124 रनों पर 5 विकेट  हासिल किए। जिस तरह पुणे और बेंगलुरु की पिच से स्पिनरों को मदद मिली थी वैसी मदद  जेएससीए की पिच से स्पिनरों को नहीं मिली। इसके बावजूद जडेजा ने अपने करियर में 8वीं  बार 1 पारी में 5 विकेट हासिल कर लिए। 
 
कंधे की चोट के कारण गुरुवार को मैदान से बाहर हुए भारतीय कप्तान विराट कोहली शुक्रवार को भी ऑस्ट्रेलियाई पारी में क्षेत्ररक्षण करने नहीं उतरे। विराट को लेकर यह चर्चा लगातार  चलती रही कि वे अब किस क्रम पर बल्लेबाजी करने आएंगे। विराट हालांकि ड्रेसिंग रूम में कई  बार बल्ला लेकर उससे खेलने का अभ्यास करते रहे। भारत की पहली पारी में 1 ही विकेट गिरा  जिससे विराट के मैदान में उतरने की नौबत नहीं आई।
 
इससे पहले ऑस्ट्रेलिया ने कप्तान स्टीवन स्मिथ (नाबाद 178) की जबरदस्त पारी की बदौलत  पहली पारी में 137.3 ओवरों में 451 रन बनाए। ऑस्ट्रेलिया ने सुबह 4 विकेट पर 299 रनों  से आगे खेलना शुरू किया। स्मिथ 117 और मैक्सवेल 82 रनों पर नाबाद थे। स्मिथ ने 361  गेंदों की पारी में 17 चौके लगाए और मैक्सवेल (104) के साथ 5वें विकेट के लिए भारत के  खिलाफ 191 रनों की रिकॉर्ड साझेदारी भी की। 
 
स्मिथ ने मैच के पहले ही दिन अपने 5,000 टेस्ट रन भी पूरे कर लिए थे जबकि वे भारतीय  जमीन पर मेजबान टीम के खिलाफ 150 से अधिक का स्कोर बनाने वाले पहले ऑस्ट्रेलियाई  कप्तान भी बन गए हैं। उनसे पहले यह रिकॉर्ड पूर्व कप्तान माइकल क्लार्क के नाम था  जिन्होंने 2012-13 दौर में 130 रनों की पारी खेली थी। वे भारत में सर्वश्रेष्ठ पारी खेलने वाले  बतौर मेहमान टीम के कप्तान 5वें खिलाड़ी भी बन गए हैं। इस सूची में सबसे आगे वेस्टइंडीज  के क्लाइव लॉयड (नाबाद 242) हैं।
 
इसके बाद 7वें नंबर पर उतरे विकेटकीपर वेड ने 50 गेंदों में 6 चौके लगाकर 37 रन का  योगदान दिया। वेड को 116वें ओवर की चौथी गेंद पर जडेजा ने साहा के हाथों कैच कराकर  मेहमान टीम का 6ठा विकेट निकाला। जडेजा ने इसके बाद मात्र 2 गेंदों के अंतर पर ही कमिंस  को बोल्ड कर पारी में अपना चौथा विकेट भी हासिल कर लिया और 395 के स्कोर पर  ऑस्ट्रेलिया के 7 विकेट निकाल दिए।
 
लंच तक ऑस्ट्रेलिया ने 7 विकेट के नुकसान पर 401 रन बनाए जबकि अपने बाकी 3 विकेट  उसने 5 रन के अंतर पर ही गंवा दिए। जडेजा ने लियोन को आउट करने के साथ पारी में  अपना 5वां विकेट लिया। यह भारतीय लेफ्ट आर्म स्पिनर के लिए 8वां मौका है, जब उन्होंने  टेस्ट की 1 पारी में 5 विकेट निकाले हैं।
 
नंबर 1 टेस्ट गेंदबाज जडेजा ने डेविड वॉर्नर, मैक्सवेल, वेड, कमिंस ओर लियोन को आउट  किया। जडेजा ने 49.3 ओवर में 124 रन देकर सर्वाधिक 5 विकेट निकाले। तेज गेंदबाज उमेश  यादव ने 106 रनों पर 3 और रविचन्द्रन अश्विन ने 114 रनों पर 1 विकेट हासिल किया।
 
ऑस्ट्रेलियाई टीम ने लंच तक 7 विकेट के नुकसान पर 401 रन बनाए थे और उस समय  स्मिथ 153 और स्टीव ओ कीफे 1 रन बनाकर क्रीज पर थे। लंच के बाद दोनों बल्लेबाजों ने  8वें विकेट के लिए 51 रनों की अहम साझेदारी की, लेकिन दूसरे छोर पर विकेट गिरते रहे और  मेहमान टीम ने अपने आखिरी 3 विकेट मात्र 5 रन के अंतर पर गंवा दिए। कीफे 25 रन,  नाथन लियोन 1 रन और जोश हेजलवुड शून्य पर आउट हुए। 
 
तेज गेंदबाज उमेश यादव ने कीफे को मुरली विजय के हाथों कैच कराकर ऑस्ट्रेलिया का 8वां  विकेट 446 के स्कोर पर हासिल किया। कीफे ने 71 गेंदों की पारी में 5 चौके लगाए। इसके  बाद लियोन को जडेजा ने 6 गेंद ही खेलने दीं और नौवां विकेट निकाला। हेजलवुड खाता भी  नहीं खोल पाए और जडेजा तथा लोकेश राहुल ने उन्हें रनआउट कर मेहमान टीम की पारी को  समेट दिया।
 
दुनिया के नंबर 1 बल्लेबाज स्मिथ ने पारी में सर्वाधिक स्कोर बनाया और सीरीज में अपना  दूसरा तथा 19वां शतक जड़ा। वे नाबाद लौटे और 5 बल्लेबाजों के साथ साझेदारियां निभाईं।  उन्होंने मैट रेनशॉ के साथ दूसरे विकेट के लिए 30 रन, चौथे विकेट के लिए पीटर हैंड्सकोंब के  साथ 51 रन, 5वें विकेट के लिए मैक्सवेल के साथ रिकॉर्ड 191 रन, मैथ्यू वेड के साथ 6ठे  विकेट के लिए 64 रन और कीफे के साथ 8वें विकेट के लिए 51 रनों की साझेदारियां की।
 
सुबह मैक्सवेल ने अपने करियर का पहला टेस्ट शतक पूरा करने के साथ स्मिथ के साथ 5वें  विकेट के लिए 191 रनों की रिकॉर्ड साझेदारी कर डाली। स्मिथ और मैक्सवेल के बीच भारत के  खिलाफ भारतीय जमीन पर इस विकेट के लिए यह ओवरऑल चौथी सबसे बड़ी साझेदारी है  जबकि ऑस्ट्रेलिया की ओर से इस विकेट की सबसे बड़ी साझेदारी भी है। इससे पहले  ऑस्ट्रेलिया की ओर से वर्ष 2013 दौरे में माइकल क्लार्क और मैथ्यू वेड ने 5वें विकेट के लिए  145 रनों की बड़ी साझेदारी की थी। हालांकि 10 ओवर के खेल के बाद जडेजा ने मैक्सवेल को विकेटकीपर रिद्धिमान साहा के हाथों  कैच कराकर दिन की पहली बड़ी सफलता दिला दी और इस रिकॉर्ड साझेदारी का भी समापन हो  गया। मैक्सवेल ने अपनी 185 गेंदों की पारी में 9 चौके और 2 छक्के लगाकर 104 रन  बनाए। (वार्ता)

वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
Widgets Magazine



और भी पढ़ें :