Widgets Magazine

सेल्फी की पनौती ने डुबोई टीम इंडिया की नैया!

Last Updated: मंगलवार, 20 जून 2017 (01:05 IST)
सीमान्त सुवीर
 
चैम्पियंस ट्रॉफी के को हुए 24 घंटे से ज्यादा का वक्त गुजर गया है, लेकिन अभी तक 132 करोड़ देशवासियों के गले यह बात आसानी से नहीं उतर रही है कि आखिर भारत फाइनल में पाकिस्तान से इतनी बुरी तरह कैसे हार गया, वह भी बिना लड़े? खेत-खलियान से लेकर गांव की चौपाल तक और आंगन से लेकर ऑफिस तक सिर्फ एक ही चर्चा है 'टीम इंडिया' आखिर कैसे हार गई? क्या इस हार के पीछे कोई बड़ी साजिश रची गई है? कोई काला जादू या टोटका किया गया है या फिर पाकिस्तानी एंकर की सेल्फी पनौती बन गई  जिसने टीम इंडिया की नैया को डुबो दिया? 
 
सोशल मीडिया में भारत की हार के बाद पाकिस्तान के टीवी चैनल 'दुनिया न्यूज' में स्पोर्ट्‍स एंकर के रूप में कार्यरत ज़ैनब अब्बास को रातोंरात सुर्खियों में ला दिया है। इस लड़की को सेल्फी की बीमारी है और वह अपनी यादों के एलबम को हाइट पर ले जाने के लिए हर किसी के साथ सेल्फी खिंचाती फिरती है। लंदन में जैनब मैचों के कवरेज के लिए गई थी, जहां उसने बड़े सितारों के साथ सेल्फी लेने का अवसर नहीं खोया, लेकिन कई क्रिकेटरों के लिए  उसकी ये सेल्फी पनौती बन गई। 
दक्षिण अफ्रीका के कप्तान एबी डी'विलियर्स के साथ उसने सेल्फी ली और अगले मैच में वे खाता खोले बगैर आउट हो गए। विराट के साथ उसने सेल्फी ली और विराट भी श्रीलंका के खिलाफ शून्य पर आउट हो गए। सोशल मीडिया में विराट और ज़ैनब की सेल्फी का मार्केट काफी गर्म है और दिलचले क्रिकेटरों का एक बड़ा हुजूम उस पर अपनी भड़ास निकालने में कोई नरमी नहीं बरत रहा है।  
 
ज़ैनब ने न केवल डी'विलियर्स, विराट के साथ सेल्फी ली है बल्कि उसने रोहित शर्मा और युवराज सिंह को भी अपने मोबाइल कैमरे में कैद किया। इसके अलावा श्रीलंका के कप्तान एंजलो मैथ्यूज भी ज़ैनब के साथ फोटो खिंचवाते नजर आए। भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सेल्फी की बीमारी की शुरुआत क्या की, दुनिया इसके पीछे पागल हुए जा रही है और यदि इस बीमारी के डंक की शिकार ज़ैनब भी हो गई तो क्या बुरा हुआ?

बुरा ये हुआ कि भारत चैम्पियंस ट्रॉफी के फाइनल में पाकिस्तान के हाथों 180 रन के बड़े अंतर से हार गया। रोहित शर्मा शून्य पर पैवेलियन लौटे तो विराट 5 और युवराज 22 पर आउट हुए। एक हार्दिक पांड्‍या को छोड़कर टीम के सभी बल्लेबाज पाक गेंदबाजों के सामने घुटने टेकते नजर आए।
 
असल बात तो यह है कि सेल्फी की बीमारी और ज़ैनब अब्बास की पनौती से टीम इंडिया नहीं हारी बल्कि हार के कारण कुछ और ही हैं...जिनका पता बाबा आदम भी नहीं लगा सकते क्योंकि यह सब इतने सुनियोजित ढंग से होता है कि किसी को कानों कान खबर नहीं होती। क्या मैदान में खेल रहे खिलाड़ियों की डोर दूसरे हाथों में थी, जो इन्हें अपने मन अनुरूप नचा रहा था। ठीक उसी तरह जिस तरह एक मदारी अपने दक्ष बंदर को अपने इशारों पर नचाता है...। यह तो पर्दे के पीछे की बात हो सकती है...
 
चैम्पियंस ट्रॉफी के फाइनल में भारतीय कप्तान विराट कोहली के आउट होने पर शक किया जा रहा है और हार्दिक पांड्‍या को जडेजा ने ऐसे वक्त रन आउट करवाया जब वे छक्कों की बरसात कर रहे थे...क्या से सब संयोग से हुआ या हारने की रणनीति का एक हिस्सा था...क्रिकेटप्रेमी भारत की इस हार को कबूल करने को तैयार ही नहीं हैं। भारतीय क्रिकेटर पाकिस्तान से लड़कर हारते तो कोई भी मानता लेकिन टीम इंडिया ने तो जंग लड़ने के पहले ही अपने हथियार की बारूद को पानी से भिगो लिया था।
 
अब बात उस ज़ैनब अब्बास नाम की उस पाकिस्तानी मोहतरमा की...क्रिकेट की शौकीन इस लड़की ने लंदन की जमीं पर कदम रखने के बाद सबसे पहले 1 जून को विराट कोहली के साथ सेल्फी ली थी, जो आईसीसी की ऑफिशियल वेबसाइट पर चस्पा है। 1 जून को ही उसने अपने टि्वटर पेज पर इसे सोशल किया जबकि भारत का पाकिस्तान से 4 जून को पहला मैच हुआ था और इस मैच में भारत 126 रन से विजयी रहा। ज़ैनब ने विराट वाली फोटो पहली बार 8 जून को अपनी फेसबुक वॉल पर लगाई। 
 
इससे साफ है कि फाइनल मैच के ठीक पहले विराट और अन्य भारतीय क्रिकेटरों ने अपना चेहरा ज़ैनब के करीब नहीं लाया और वह इस हार की जिम्मेदार नहीं है। हां, भारत की हार के बाद उसने मीडिया के सामने यही कहा कि सेल्फी के लिए मैं इतनी अधिक चर्चित हो गई हूं कि मुझे चैम्पियंस ट्रॉफी के विजेता पाकिस्तानी खिलाड़ियों के साथ सेल्फी लेने की कोई जरूरत नहीं है...  


वेबदुनिया हिंदी मोबाइल ऐप अब iOS पर भी, डाउनलोड के लिए क्लिक करें। एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।
Widgets Magazine
Widgets Magazine